MP News: Sand mafias beat up police station in-charge in Bhind, trying to snatch rifle from soldier

भिंड में रेत खनन माफियाओं ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया।
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार


भिंड जिले के रौन थाना पुलिस पर रेत माफिया ने हमला कर दिया। यह घटना बीते रात की बताई जा रही है। रेत माफियाओं ने मछंड चौकी प्रभारी कमल कांत दुबे के साथ मारपीट की है, जिससे उन्हें चोट आई हुई है। वहीं बदमाशों ने एक आरक्षक की राइफल छीनने का प्रयास किया। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है।

जानकारी के मुताबिक सिंध नदी के मछंड चौकी की अंतर्गत दोहई और नया गांव क्षेत्र के टेहनगुर घाट पर रेत का अवैध उत्खनन लंबे समय से होता आ रहा है। इस बात की जानकारी लगते ही मछंड चौकी प्रभारी कमलकांत दुबे के साथ अवैध उत्खनन करने वाली ट्रैक्टर ट्रॉली को पकड़ने के लिए पहुंची। पुलिस ने अवैध रेत उत्खनन करते हुए आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश दी। मछंड क्षेत्र से आरोपी नयागांव थाना क्षेत्र की ओर निकल गए। पुलिस पीछा करते हुए आरोपियों के पास पहुंची तभी रेत माफियाओं ने पुलिस जवानों पर हमला कर दिया। इस दौरान रेत माफिया की संख्या ज्यादा थी। पुलिस के जवान 5 से 6 ही थे। इस घटना में एसआई दुबे के सिर में चोट आई हुई है। वहीं एक आरक्षक अजय की भी बदमाशों ने राइफल छीनने का प्रयास किया।

मछंड चौकी प्रभारी एसआई कमलकांत दुबे ने बताया कि वे दोहई और नयागांव क्षेत्र के टेहनपुर घाट पर रेत के अवैध परिवहन की सूचना पर पहुंचे थे। उन्हें सूचना मिली थी कि सिंध नदी से अवैध तरीके से रेत निकालकर ट्रैक्टर-ट्रॉली जा रही है। पुलिस के पहुंचते ही माफिया ने हमला कर दिया। आरोपियों की संख्या ज्यादा थी। पुलिस टीम में 5 से 6 जवान ही थे। बदमाशों के हमले से सिर में चोट आई है। 

इधर घटना के बाद रौन, मछंड और उमरी थाना पुलिस सक्रिय हो गई है। पुलिस ने आरोपियों की जगह-जगह तलाश शुरू कर दी है। मामले में खनिज विभाग के जिला अधिकारी दिनेश डुडबे का कहना है कि इंदुर्खी रेत खदान पर अवैध तौर पर रेत निकाले जाने का वीडियो मिला है। मामले को संज्ञान में लिया गया है। पड़ताल में जुटे हुए हैं। भिंड जिले के इंदुर्खी गांव में निकली सिंध नदी की रेत बिल्डिंग निर्माण के लिए अच्छी मानी जाती है। इस रेत खदान का पिछले दो साल से टेंडर नहीं हुआ है, लेकिन खदान बंद नहीं हुई। चोरी-छिपे माफिया यहां से रेत निकालकर बेचते हैं। 

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *