[ad_1]

No unauthorized entry allowed in sanctum sanctorum and Nandihall of Ujjain Mahakaleshwar Temple

महाकाल मंदिर के गर्भगृह में लगी आग के बाद बदली जा रहीं व्यवस्थाएं।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


होली के दिन महाकाल मंदिर के गर्भगृह में लगी आग के बाद उज्जैन कलेक्टर नीरज सिंह ने मंदिर की व्यवस्थाएं सुधारने के लिए कड़े कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। कलेक्टर ने प्रशासक मृणाल मीणा को पुजारी और पुरोहित के प्रतिनिधियों की लिस्ट तैयार करने के लिए कहा है। साथ ही अनाधिकृत रूप से किसी को भी गर्भगृह और नंदी हॉल में प्रवेश नहीं करने के निर्देश दिए हैं।

भस्म आरती के दौरान नंदी हाल में प्रवेश पर रोक रहेगी। गर्भगृह में पहले ही रोक लगी है। अब भस्म आरती के दौरान गर्भगृह में सीमित संख्या में ही मंदिर से जुड़े लोग जा सकेंगे। सूत्रों की माने तो पिछले महीने का डेटा निकलवाकर यह भी जानकारी जुटाई जा रही है कि अब तक किस किस के नाम पर भस्म आरती की कितनी परमिशन बनी है। 

मीडियाकर्मियों के लिए बनेगा हॉल

कलेक्टर नीरज सिंह ने मंदिर में मीडियाकर्मियों के लिए अलग से व्यवस्था बनाने के निर्देश प्रशासक मृणाल मीणा को दिए हैं। कलेक्टर ने बताया कि पर्व के दिनों में गर्भगृह के पास लगने वाले भीड़, वीआईपी के आगमन पर नंदी हाल में कवरेज के दौरान बड़ी संख्या में आने वाली भीड़ को भी कम करने के उपाय किए जा रहे हैं। अब महाकाल मंदिर के फोटोग्राफर ही फोटो और वीडियो मीडिया कों उपलब्ध करवाएंगे। मीडियाकर्मियों को भी नंदी हाल और गर्भगृह की देहरी तक जाने की रोक रहेगी। आने वाले समय  मीडिया के लिए एक हॉल तैयार करवाया जाएगा, जहां फुटेज और बाइट देने की व्यवस्था की जाएगी।  

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *