lok sabha election 2024 Seven MPs from Purvanchal are not voters of their parliamentary constituency

Lok Sabha Election 2024
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


पूर्वांचल की सियासत कई मायने में दूसरे क्षेत्रों से जुदा है। बात अगर लोकसभा चुनाव की करें तो हाल के वर्षों में मतदाताओं का नजरिया बदला है। स्थानीय से कहीं ज्याव भरोसा उन्होंने बाहरी प्रत्याशियों पर जताया है। मौजूदा लोकसभा की तस्वीर पर गौर करें तो वाराणसी के साथ ही चंदौली, मिर्जापुर, सोनभद्र, भदोही, आजमगढ़ और घोसी के सांसद अपने क्षेत्र के वोटर नहीं हैं।

पूर्वांचल की सियासत कई मायने में दूसरे क्षेत्रों से जुदा है। बात अगर लोकसभा चुनाव की करें तो हाल के वर्षों में मतदाताओं का नजरिया बदला है। स्थानीय से कहीं ज्याव भरोसा उन्होंने बाहरी प्रत्याशियों पर जताया है। मौजूदा लोकसभा की तस्वीर पर गौर करें तो वाराणसी के साथ ही चंदौली, मिर्जापुर, सोनभद्र, भदोही, आजमगढ़ और घोसी के सांसद अपने क्षेत्र के वोटर नहीं हैं।

बात वाराणसी संसदीय क्षेत्र की करें तो यहां वर्ष 2004 से बाहर से आए प्रत्याशी ही सांसद चुने जा रहे हैं। 2004 के कांग्रेस सांसद डॉ. राजेश मिश्रा का जन्म स्थान देवरिया जिला है। 2009 के भाजपा सांसद डॉ. मुरली मनोहर जोशी का जन्म स्थान दिल्ली है। 2014 से अब तक भाजपा के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्म स्थान गुजरात का वडनगर ग्राम है। 

वाराणसी से सटे चंदौली लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से वर्ष 2014 से डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय भाजपा के सांसद हैं। डॉ. पांडेय मूल रूप से गाजीपुर जिले के निवासी हैं और उनका आवास वाराणसी में है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *