[ad_1]

A saint murdered in Mishrikh Kotwali area in Sitapur.

महंत मनी रामदास व जांच करती पुलिस।
– फोटो : amar ujala

विस्तार


सीतापुर जिले की कोतवाली मिश्रित क्षेत्र में शुक्रवार देर शाम होली परिक्रमा के दौरान गायब महंत का क्षत विक्षत शव मिला है। शव दो हिस्सों में बंटा था। हत्यारोपी ने हत्या के बाद महंत के कमर के नीचे का हिस्सा काटकर दूसरी बोरी में भरकर फेंका था। दो बोरियो में महंत का शव मिलने से हड़कंप मच गया।

जानकारी के अनुसार 26 मार्च को जनपद हरदोई के थाना बेनीगंज के ग्राम गिरधरपुर निवासी टाई पुत्र आत्माराम ने कोतवाली प्रभारी को एक शिकायती पत्र देकर बताया था कि उनके सगे चाचा महंत मनी रामदास (65) शिष्य ब्रह्म ऋषि निमिया बाबा निवासी ग्राम गिरधरपुर जनपद हरदोई के मिश्रिख चौरासी कोसीय परिक्रमा करने आए थे। वह सभी पड़ाव की परिक्रमा करने के बाद मिश्रित में पंचकोसी परिक्रमा कर रहे थे। अंतिम बार 24 मार्च को उनसे फोन पर संपर्क हुआ था। जिस पर उन्होंने घर आने की बात कही थी परंतु कई दिन बीत जाने पर वह घर नहीं पहुंचे थे।

उसके बाद भतीजे ने मोबाइल पर फोन से बात करने की कोशिश की पर उनका मोबाइल फोन स्विच ऑफ बताता रहा। जिस पर सभी परिजनों ने मिश्रिख आकर उनकी खोजबीन शुरू की। काफी खोजबीन करने के बाद उनका कहीं पता नहीं चला सका था।

शुक्रवार शाम को कोतवाली क्षेत्र में सिधौली रोड के किनारे लगभग 200 मीटर अंदर केसरीपुर रोड के किनारे बोरे में कुछ पड़े होने की सूचना मिली थी। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जांच की तो महंत का क्षत विक्षत अवस्था मे शव बोरे में बरामद हुआ जिसकी पुष्टि महंत के परिजनों को बुलाकर की गई। शव लगभग 4-5 दिन पुराना बताया जा रहा है। कोतवाली प्रभारी शैलेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *