[ad_1]

The political crop of the family is flourishing on the land created by Kubera, women power is also not weak

कुबेर और परिवार
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


हरदोई जिले के पासी समाज के बड़े नेता के रूप में पहचान बनाने वाले कुबेरलाल कभी विधायक या सांसद तो नहीं बने, लेकिन उनकी बनाई जमीन पर सियासत की फसल लहलहा रही है। कोथावां विकास खंड के अंतर्गत बेनीगंज कोतवाली क्षेत्र में एक गांव है शाहपुर अटिया। इसी गांव में पैदा हुए कुबेरलाल ने अपने जुझारू तेवरों से पासी समाज में अलग पहचान बनाई और फिर कोथावां के ब्लॉक प्रमुख बनने में कामयाब रहे।

इसके बाद उन्होंने अपने छोटे भाई रामपाल वर्मा को भी सियासत में उतारकर आगे कर दिया। मौजूदा समय में सबसे बड़ा राजनीतिक परिवार कुबेर का ही है। ग्राम प्रधान, ब्लॉक प्रमुख, विधायक और सांसद यह सारे पद उन्हीं के परिवार में हैं। कुल मिलाकर कुबेर ने जो राजनीतिक जमीन तैयार की उस पर पूरे परिवार की सियासी फसल शिद्दत से लहलहा रही है।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *