Rajasthan Revelation in kidnapping case of NEET student in Kota girl wanted to go abroad

छात्रा अपहरण मामले में खुलासा
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


कोटा में NEET की तैयारी कर रही एमपी के शिवपुरी की छात्रा के अपहरण मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस ने सभी पहलुओं की जांच करने के बाद बुधवार को खुलासा किया है। पुलिस ने बताया कि छात्रा के साथ किसी तरह की कोई वारदात नहीं हुई है। छात्रा विदेश जाना चाहती है। इसलिए उसने दोस्तों के साथ मिलकर खुद के अपहरण की साजिश रची थी। छात्रा और उसका एक दोस्त पुलिस को नहीं मिला है। पुलिस ने उनसे अपील की है कि वह जहां भी हो नजदीकी पुलिस से संपर्क करे।

बता दें कि इससे पहले छात्रा को जयपुर के दुर्गापुरा रेलवे स्टेशन पर देखा गया था। पुलिस के हाथ लगे सीसीटीवी फुटेज में छात्रा दो लड़कों के साथ जाते हुए दिख रही थी। सीसीटीवी के आधार पर युवती की तलाश की जा रही है। बता दें कि छात्रा के अपहरण को लेकर राजस्थान सरकार ने घोषणा की थी कि युवती की सूचना देने वाले को 20 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा। लेकिन अब इस मामले में खुलासा हो गया है।

तस्वीर भेजकर मांगी 30 लाख फिरौती

शिवपुरी के बैराड़ निवासी रघुवीर धाकड़ ने 18 मार्च की रात को कोटा के विज्ञान नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रिपोर्ट में रघुवीर ने पुलिस को बताया था कि उसकी बेटी काव्या धाकड़ (20) का अपहरण कर लिया था। उनके मोबाइल पर बेटी की किडनैपिंग का मैसेज आया था। बेटी के हाथ-पैर और मुंह बंधी फोटो भी भेजी थी। तस्वीर भेजकर 30 लाख रुपये फिरौती मांगी। मैसेज में बैंक खाते की डिटेल भी भेजी गई। पैसे नहीं देने पर लड़की को जान से मारने की धमकी भी दी थी।

केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने लिया था संज्ञान

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मामले में संज्ञान लिया था। सिंधिया ने कहा था कि राजस्थान के मुख्यमंत्री से बात कर पुलिस को एक्टिव करने और बेटी को जल्द से जल्द तलाशकर लाने का आग्रह किया है। साथ ही बच्ची के पिता को फोन कर आश्वस्त किया है कि बेटी को वापस लाने की जिम्मेदारी उनकी है। आप परिवार का ख्याल रखो, वह सिर्फ आपकी नहीं, बल्कि मेरी भी बेटी है।

इंदौर में मिल रही थी धमकी, इसलिए कोटा भेजा

कोटा में शिवपुरी की जिस बेटी का किडनैप हुआ, वह पहले इंदौर में NEET की तैयारी कर रही थी।लेकिन असामाजिक प्रवृत्ति के लड़कों से परेशान होकर उसे इंदौर शहर छोड़ना पड़ा। लड़की के पिता ने पुलिस को बताया है कि जरियाखेड़ा (MP) गांव के रहने वाला रिंकू धाकड़ ने बेटी को परेशान किया था। इसकी शिकायत इंदौर पुलिस में दर्ज कराई थी। इसके बाद बेटी के नंबर पर अनुराग सोनी और हर्षित नाम के लड़कों ने धमकी दी थी। इसके बाद बेटी को इंदौर से वापस शिवपुरी बुला लिया था। सितंबर 2023 में नीट की तैयारी के लिए कोटा भेज दिया था। लेकिन बदमाशों ने कोटा में भी उसका पीछा नहीं छोड़ा। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *