Viral photo of payment of amount to Asha workers on NRHM website

6 माह से नहीं पहुंचा राशि का भुगतान
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


दरअसल, मामला कुछ इस प्रकार है कि केंद्र और राज्य सरकार की सभी योजनाओं का लाभ जन जन तक पहुंचाने के लिए जिले की लगभग 2000 आशा कार्यकर्ताएं जी तोड़ मेहनत करती हैं। उन्हें सरकार की इन योजनाओं को आम जनता तक पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार की ओर से प्रति माह 2000 और राज्य सरकार की ओर से प्रतिमाह 4000 की राशि मिलती है, लेकिन यह आशा कार्यकर्ताएं और भी बेहतर तरीके से कार्य करें, इसीलिए इन्हें डिलीवरी करवाने पर 1200, विवाह पंजीयन पर 200 गर्भवती की आयरन की जांच करवाने पर 800, एचबीवीसी की जांच करवाने पर 50, गर्भवती का पंजीयन करवाने पर 200 और बच्चे की देखभाल करने पर 500 रुपये के साथ ही केंद्र और राज्य सरकार की 54 योजनाओ का लाभ दिलवाने पर प्रोत्साहन राशि प्राप्त होती है।

राशि न मिलने से आशा कार्यकर्ताएं हैरान

अब उज्जैन में इस राशि को लेकर दो पत्र वायरल हो रहे हैं, जिसमें बताया गया है कि वर्ष 2023-2024 में सभी आशा कार्यकर्ताओं की प्रोत्साहन राशि वेबसाइट पर अपडेट कर दी गई है, लेकिन वर्तमान स्थिति यह है कि आशा कार्यकर्ताओं के खाते में लगभग 6 माह से यह राशि पहुंची ही नहीं है। वायरल हो रहे कागजों में आशा कार्यकर्ताओं के इंसेंटिव अमाउंट की पूरी डिटेल होने और खाते में कोई भी राशि न मिलने से आशा कार्यकर्ताएं खुद कुछ समझ नहीं पा रही है।

एनआरएचएम की बीसीएम से संपर्क करने की कोशिश

सोर्स बताते हैं कि इस मामले में कुछ आशा कार्यकर्ताओं ने एनआरएचएम की बीसीएम हिना खान और अकाउंटेंट मनीष शर्मा से भी संपर्क किया है, लेकिन इन जिम्मेदारों द्वारा उन्हें सिर्फ वेबसाइट अपडेट करने की बात कही तो गई है, लेकिन यहां नहीं बताया गया कि यह राशि उनके खातों में क्यों नहीं आ पा रही है। वैसे इस मामले को लेकर जब अकाउंटेंट मनीष शर्मा और बीसीएम हिना खान से जब उनके मोबाइल नंबर पर संपर्क करना चाहेगा तो उनसे बात नहीं हो पाई। 

1- अगर ऐसी कुछ गड़बड़ी चल रही है तो इसकी शिकायत जल्द ही कलेक्टर नीरज कुमार सिंह, सीएमएचओ डॉ दीपक कुमार पिप्पल को की जाएगी और इस मामले में निष्पक्ष जांच किए जाने की मांग की जाएगी। 

सुमन अंजना पटेल, आशा एवं सहयोगी कर्मचारी महासंघ राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष

2- अगर वेबसाइट पर इस प्रकार का कोई अपडेट किया गया है और आशा कार्यकर्ताओं को यह राशि नहीं मिली है तो हम इसे दिखवाएंगे यह हमारी जिम्मेदारी है। 

डॉ दीपक कुमार पिप्पल, सीएमएचओ



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *