[ad_1]

Advocate's death: Eight policemen including named SO went on leave neck will get stuck in every situation

अधिवक्ता की मौत
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


आगरा में मंगलम आधार अपार्टमेंट निवासी अधिवक्ता सुनील शर्मा की मौत के मामले में 14 दिन बाद भी पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। इससे मृतक के परिजन में आक्रोश है। बृहस्पतिवार को पुलिस आयुक्त जे. रविन्दर गौड से मुलाकात की। सवाल पर सवाल किए। इस पर पुलिस आयुक्त ने कार्रवाई का आश्वासन दिया। केस में पुलिसकर्मियोंं की गर्दन फंसेगी। हादसा साबित होने पर भी आरोपी बन जाएंगे।

1 मार्च को अधिवक्ता सुनील शर्मा की अपार्टमेंट से गिरकर मौत हुई थी। बताया गया कि वह आठवीं मंजिल से गिर गए। उस समय थाना न्यू आगरा पुलिस ने अधिवक्ता के घर में दबिश दी थी। पुलिस घटना को हादसा मानकर चल रही थी। मगर, मृतक अधिवक्ता की पत्नी ने पुलिसकर्मियों पर पति को आठवीं मंजिल से फेंककर हत्या का आरोप लगाया।

थाना सिकंदरा में तहरीर दी। इस पर थाना न्यू आगरा के तत्कालीन एसओ राजीव कुमार, चौकी प्रभारी अनुराग को नामजद और 8-10 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। परिवार के लोगों ने हंगामा किया था। बाद में अधिकारियों के आश्वासन पर अंतिम संस्कार के लिए राजी हुए थे।

 

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *