[ad_1]

Sampurnanand Sanskrit University will appointment interviews in campus

संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के संबद्ध महाविद्यालयों में रिक्त पदों पर होने वाली नियुक्ति की पूरी प्रक्रिया अब विश्वविद्यालय परिसर में ही होगी। विश्वविद्यालय प्रशासन ने सोमवार को इसका आदेश जारी कर दिया। संस्कृत महाविद्यालय और विद्यालय में नियुक्ति प्रक्रिया में गड़बड़ी की खबर अमर उजाला में प्रकाशित होने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह निर्णय लिया है।

संस्कृत विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालयों की नियुक्ति प्रक्रिया में लगातार गड़बड़ियों की शिकायत मिल रही थी। ताजा प्रकरण बलिया जिले के श्रीनाथ संस्कृत महाविद्यालय रसड़ा का सामने आया था। लिफाफा खुलने से पहले ही चयनित होने वाले अभ्यर्थियों के नाम, एक्सपर्ट के नाम सार्वजनिक हो गए थे। इस मामले में पैसे लेने, प्रबंधक के भाई के नियुक्त होने और शासनादेश व अधिनियम का भी उल्लंघन की शिकायत मिली थी।

कुलसचिव राकेश कुमार ने बताया कि नियुक्तियों में अनियमितता की शिकायतें लगातार मिल रही थीं। इसको ध्यान में रखते हुए संकायाध्यक्षों की बैठक के बाद कुलपति प्रो. बिहारी लाल शर्मा के आदेश पर संबद्ध महाविद्यालयों में होने वाली नियुक्तियों के लिए साक्षात्कार व चयन समिति की बैठक अब विश्वविद्यालय परिसर में ही कराने का आदेश दिया गया है। इसके पहले जो भी नियुक्तियां हुई हैं और जिसमें भी शिकायतें मिली हैं उनकी जांच भी कराई जाएगी।

देश भर में हैं संबद्ध महाविद्यालय

संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के संबद्ध महाविद्यालय देश भर में हैं। संबद्ध महाविद्यालयों की संख्या 583 है। इसके साथ ही नेपाल भी संबद्ध महाविद्यालयों का संचालन होता है।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *