Weather in UP Big loss to farmersbecause of rain, many died.

बारिश के कारण खराब हुई फसल।
– फोटो : amar ujala

विस्तार


उत्तर प्रदेश में बेमौसम बरसात से राजधानी लखनऊ सहित एक दर्जन से अधिक जिलों में फसलों को नुकसान हुआ है। आकाशीय बिजली गिरने से पांच लोगों की मौत हुई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिलाधिकारियों को अतिवृष्टि और ओलावृष्टि से क्षतिग्रस्त फसलों के नुकसान का आकलन कर 24 घंटे में मुआवजा भुगतान के निर्देश दिए हैं।

प्रदेश के इन जिलों में हुई ओलावृष्टि

राहत आयुक्त जीएस नवीन कुमार ने बताया कि फर्रुखाबाद, कन्नौज, मुजफ्फरनगर, जालौन, झांसी, कानपुर देहात, शाहजहांपुर, ललितपुर, सहारनपुर, लखनऊ, सीतापुर और झांसी सहित अन्य जिलों में रविवार को ओलावृष्टि हुई है। बीते एक दिन में आकाशीय बिजली गिरने से लखीमपुर खीरी, हरदोई, सीतापुर, आगरा और शाहजहांपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

आकाशीय बिजली गिरने से शाहजहांपुर में एक बकरी और सीतापुर में एक भैंस की मौत हुई है। मथुरा में अतिवृष्टि से एक मकान ढहा है। सहारनपुर की बेहट तहसील के अबाबकरपुर गांव में भी आकाशीय बिजली गिरने से एक मकान क्षतिग्रस्त हुआ है।

राहत आयुक्त ने बताया कि बस्ती, उन्नाव, शाहजहांपुर, बहराइच, बाराबंकी, गोंडा, श्रावस्ती, प्रतापगढ़, सिद्धार्थनगर, लखीमपुर खीरी और महोबा में बरसात हुई है। बरसात और ओलावृष्टि से क्षतिग्रस्त फसलों का सर्वे कराया जा रहा है। सर्वे पूरा होने के बाद प्रभावित किसानों को मुआवजा भुगतान की कार्यवाही शुरू की जाएगी।

मुआवजा भुगतान में लापरवाही पर होगी कार्रवाई

मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिरियों, एसडीएम और तहसीलदारों को मौके पर जाकर फसलों के नुकसान का तत्काल सर्वे कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि ओलावृष्टि और अतिवृष्टि से जिन किसानों की फसल खराब हुई है उन्हें 24 घंटे में मुआवजा भुगतान किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को क्षतिपूर्ति देने में लापरवाही न करने की हिदायत दी है। उन्होंने कहा कि यदि किसी अधिकारी की लापरवाही सामने आती है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *