[ad_1]

Ujjain: Sahaja Yogis from abroad worshiped the Lord in the Yogdhara program

विदेशों से पहुंचे लोगों ने भारतीय वाद्य यंत्रों के साथ गायन किया।
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार


सहजयोग मुख्य केंद्र द्वारा आयोजित योगधारा कार्यक्रम में फ्रांस, यूक्रेन, रशिया, बुल्गारिया और आस्ट्रिया के सहजयोगी भाई-बहनों ने शास्त्रीय वादन-गायन किया। इन्होंने भगवान शिव, राम, कृष्ण, गणेश वंदना और देवी स्तुति की प्रस्तुतियां दी। कलाकारों की प्रस्तुतियों को उपस्थित शहरवासियों ने जमकर सराहा। साथ ही आत्मसाक्षात्कार प्राप्त किया।

दीप प्रज्वलन से प्रारंभ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक अनिल जैन कालूहेड़ा ने कहा कि प्रदेश सरकार के योग आयोग ने पांच संस्थाओं को विकासखंड स्तर तक, अंचल में चल रहे स्कूलों में योग समिति गठित करने तथा योग का लाभ विद्यार्थियों को देने के लिए अधिकृत किया है, उनमें से एक सहजयोग है। कालिदास संस्कृत अकादेमी के निदेशक डॉ. गोविंद गंधे ने कहा कि भारत का प्राचीन इतिहास वसुदेव कुटुम्बकम का रहा है। हम पूरे विश्व को अपना मानते है। यह मानकर चलते हैं कि हमारी संस्कृति का ध्वज पूरे विश्व में फहराएगा। 

कार्यक्रम में महापौर मुकेश टटवाल भी शामिल हुए और नगर के प्रथम नागरिक के रूप में विदेश से आए कलाकारों का सम्मान किया। प्रेस क्लब अध्यक्ष विशालसिंह हाड़ा ने कहा कि सहजयोग करने से तनाव मुक्ति मिलती है,इसे स्वयं अनुभव किया है। आज के इस भागदौड़ के युग में कुछ समय स्वयं के लिए निकालना और उस समय को ध्यान योग में लगाना, सभी को ऐसा अनिवार्य रूप से करना चाहिए। महापौर परिषद के सदस्य शिवेंद्र तिवारी ने कहा कि शहर में माताजी के नाम पर नगर निगम द्वारा पूर्व में मार्ग का नामकरण किया गया था। अब नगर निगम सीमा में संचालित स्कूलों में प्रदेश के योग आयोग द्वारा दिए गए निर्देश के तहत सहजयोग संचालित करने में जो भी सहयोग लगेगा, हम देंगे। कार्यक्रम में प्रदेशभर से आए सहजयोगी भी शमिल हुए। कार्यक्रम में अतिथि स्वागत सहजयोग के प्रदेश समन्वयक अमित गोयल ने किया। संचालन योगधारा के आगम गुप्ता ने किया। आभार नगर समन्वयक सुधीर धारीवाल ने माना।

 

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *