Bharat Jodo Nyay Yatra From Raebareli to Lucknow.

लखनऊ पहुंची कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा।
– फोटो : amar ujala

विस्तार


कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि यूपी ही नहीं पूरे देश में गरीब पिस रहे हैं। भाजपा सरकार सिर्फ सात फीसदी अमीरों को फायदा पहुंचाने में लगी है। देश के ओबीसी, दलित, अनुसूचित जनजाति के 73 फीसदी लोग हैं। 15 फीसदी अल्पसंख्यक व पांच फीसदी सामान्य गरीब को मिलाकर 93 फीसदी हैं। इनकी हर स्तर पर अनदेखी हो रही है।

अपनी भारत जोड़ो न्याय यात्रा लेकर मंगलवार को रायबरेली और फिर लखनऊ पहुंचे राहुल ने एलान किया कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में जातीय जनगणना पहले स्थान पर है। सरकार बनते ही यह कराई जाएगी ताकि सबकी हिस्सेदारी पता चल सके। इसी तरह किसानों को लीगल एमएसपी दिलाई जाएगी। परीक्षा का पेपर लीक करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। रायबरेली से लेकर लखनऊ के घंटाघर तक हुई करीब आठ सभाओं में राहुल का भाषण पिछड़े, दलितों व युवाओं पर फोकस रहा।

उन्होंने उद्योगपतियों के बहाने भाजपा सरकार पर हमला बोला। कहा कि यह सरकार सिर्फ उद्योगपतियों के लिए योजना बना रही है। गांव, गरीब व किसान उसकी प्राथमिकता में नहीं हैं। उन्होंने वाराणसी का जिक्र करते हुए कहा कि वहां रात को देखा कि यूपी का भविष्य सड़कों पर शराब पीकर नाच रहा है। आपसे 24 घंटे झूठ बोला जाता है। सही बात पता न चले, इसलिए सपने दिखाए जाते हैं। राम मंदिर उद्घाटन का जिक्र करते हुए कहा कि वहां पर कोई किसान, आदिवासी और दलित नहीं दिखा।

राहुल ने अपनी यात्रा का मकसद बताया। कहा कि पहली यात्रा के बाद तमाम लोग मिले, जिन्होंने कहा कि देश में गरीबों को न्याय नहीं मिल रहा है। देश व प्रदेश में पिछड़े व दलित बड़ी कंपनियों, अस्पतालों के मालिक नहीं है बल्कि मजदूर हैं। अब न्याय सिर्फ अरबपतियों के लिए है। बाकी लोग अन्याय की जिंदगी जीते हैं। बड़े व्यापारियों को फायदा पहुंचाने के लिए नोटबंदी और जीएसटी लागू की गई है। इसके लिए आर्थिक अन्याय किया गया।

अदाणी जैसे लोगों की मदद के लिए छोटे व्यापारियों को तबाह किया गया। प्रदेश के युवाओं के लिए नौकरी ही एकमात्र रास्ता है लेकिन पेपर लीक कराकर अमीरों को फायदा पहुंचाया जा रहा है। गरीब बच्चे पांच साल पढ़ाई करते हैं और अमीर बिना पढ़े 100 फीसदी अंक पा जाते हैं। कहा कि चीन के मोबाइल का फायदा वहां के युवाओं को मिलता है। हिंदुस्तान के युवा मोबाइल, टेलीविजन बना सकते हैं। मेड इन लखनऊ और मेड इन इंडिया लिख सकते हैं, लेकिन उनको उसका फायदा नहीं मिलता है। यह फायदा सीधे अरबपतियों को मिलता है।

अग्निवीरों का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा कि यह पिछड़ों, दलितों व आदिवासियों को सेना से निकालने की साजिश है। कुछ समय बाद पता चलेगा कि चार लोगों में एक सेना में नियमित हो जाएगा और तीन कमजोर वर्ग के लोगों को निकाल दिया जाएगा। आगे दो तरह के शहीद होंगे। अग्निवीर वाले को शहीद का दर्जा नहीं दिया जाएगा। उन्होंने युवाओं से अपील की कि यह देश नफरत का नहीं बल्कि भाईचारे का है। युवा नफरत मिटाने में सहयोग करें। तभी देश तरक्की करेगा। तभी बेरोजगारी दूर होगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *