[ad_1]

ललितपुर। छत्तीसगढ़ के डोगरगढ़ में प्रख्यात संत आचार्य श्रेष्ठ विद्यासागर महामुनिराज की संलेखनापूर्वक समाधि की खबर से जैन-जैनेतर समाज स्तब्ध है। उनके अनुयायियों के मुख से यही निकल रहा है कि गुरुवर की यादें भुला नहीं पाएंगे।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *