Shivpuri News Seven people arrested for filling filth in mouth of an elderly couple

पीड़ित दंपती
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


शिवपुरी जिले के अमोला थाना अंतर्गत सिलानगर गांव में एक बुजुर्ग दंपती को मैला खिलाए जाने का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस की लापरवाही सामने आई है। क्योंकि पहले बुजुर्ग दंपती थाने पर शिकायत लेकर गए। लेकिन थाने पर कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद जिला मुख्यालय पर आकर पुलिस अधीक्षक को आवेदन दिया। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पुलिस ने जांच की और इसके बाद मामला दर्ज किया गया। अब सात लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई है और आरोपियों को विभिन्न धाराओं में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है।

शिवपुरी के सिलानगर गांव में जिन बुजुर्ग दंपती के साथ यह वारदात हुई है, उसमें उन्होंने पुलिस अधीक्षक को दिए आवेदन में आरोप लगाए हैं कि गांव के ही देवका कुशवाह, रामकुमारी कुशवाह, ऊषा कुशवाह, प्रेम कुशवाह, खरे कुशवाह, सर्रा कुशवाह, पप्पू कुशवाह ने उनके साथ 15 फरवरी को मारपीट की और मैला खिलाया। आरोपियों ने जादू टोना के शक इस वारदात को अंजाम दिया। बताया जाता है कि पिछले कुछ दिनों से गांव के कुछ लोगों के अंडर वियर चोरी जा रहे थे। इस बात को लेकर उक्त मामले में बुजुर्ग दंपती पर शक किया गया और आरोपियों ने इस बात को लेकर इनकी मारपीट व कर दी और मैला खिला दिया।

इस मामले में बुजुर्ग दंपती के साथ जो अमानवीय कृत्य किया गया, उसमें कई ग्रामीण वहां तमाशबीन बने रहे और उनके द्वारा कोई रोक-टोक नहीं की गई। बाद में जब पीड़ित इस मामले में थाने पर भी पहुंचे तो थाने पर कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद पीड़ितों ने शिवपुरी जिला मुख्यालय पर आकर पुलिस अधीक्षक को आवेदन दिया। इस शिकायत पर पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर एसडीओपी करैरा व थाना प्रभारी अमोला ने मौके पर जांच की, इसके बाद एफआईआर दर्ज की गई।

एसपी के निर्देश के बाद चेती पुलिस

इस मामले में प्रारंभिक तौर पर देखा जाए तो थाने की लापरवाही सामने आई है। क्योंकि बुजुर्ग दंपती ने थाने पर जाकर शिकायत दर्ज कराई थी। लेकिन इसके बाद भी पुलिस एक्टिव नहीं हुई। बुजुर्ग दंपती ने इसके बाद शिवपुरी जिला मुख्यालय पर एसपी से शिकायत की और इसके बाद पुलिए चेती। अब पुलिस ने फरियादिया की रिपोर्ट पर से ग्राम सिलानगर के देवका कुशवाह, रामकुमारी कुशवाह, ऊषा कुशवाह, प्रेम कुशवाह, खरे कुशवाह, सर्रा कुशवाह, पप्पू कुशवाह पर थाना अमोला पर अपराध क्रमांक 23/24 धारा 294, 323, 328, 270, 506, 34 भादवि का कायम कर विवेचना में लिया गया।

अब इस मामले में पुलिस का कहना है कि पूर्व में जब फरियादी थाने पर आए थे तो आरोपीगणों द्वारा फरियादिया को जान से मारने की धमकी दी गयी थी। अगर तूने थाने पर भिस्टा (मल) लगाने वाली बात बोली तो तुझे जान से खत्म कर देंगे, जिस डर से फरियादिया ने थाने पर कोई भिस्टा लगाने बाली बात नहीं बताई थी और झगड़ा होने की रिपोर्ट लिखाकर दोनों पक्षों को आपस मे राजीनामा करके चले गये थे। अब पुलिस ने इस मामले में बचाव की मुर्दा में आ गए हैं। इस मामले में पुलिस ने अब आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर उन्हें गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया। यहां से न्यायालय ने उक्त आरोपियों को जेल भेज दिया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *