Gwalior News: Harsh fire during wedding in Dabra, bouncer died due to bullet injury, stampede broke out

ग्वालियर के डबरा में बाउंसर की मौत की जांच करते पुलिस अधिकारी।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


ग्वालियर जिले के डबरा कस्बे के एक मैरिज गार्डन में सिख समाज की शादी थी। इस दौरान पार्टी में गोलीं लगने से एक बाउंसर की मौत हो गई। मृतक के सिर में गोली लगी है। बताया गया कि शादी की पार्टी में हर्ष फायरिंग हो रही थी। एक फायर बाउंसर आकाश प्रजापति के सिर में लगा। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इस घटना के बाद समारोह में भगदड़ मच गई। बताया गया का साथी बाउंसर की गोली ही उसे लगी है। कुछ लोगों का कहना है कि हर्षफायर में उसे गोली लगी है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार जलसा गार्डन में बलविंदर सिंह के बेटे की शादी हो रही थी। इस दौरान रॉयल टाइगर ग्रुप के बाउंसर वहां तैनात थे। थाटीपुर निवासी आकाश प्रजापति भी इसी ग्रुप के लिए काम करता था। समारोह के दौरान गोली चली और आकाश प्रजापति को लगी है। यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि उसे किसी ने गोली मारी है या उसे हर्षफायर के दौरान गोली लगी है। पुलिस हर पहलू की जांच कर रही है। फिलहाल किसी को हिरासत में नहीं लिया गया है। 

हर्षफायर या हत्या, पुलिस कर रही है जांच

एसडीओपी उमेश गर्ग और थाना प्रभारी यशवंत गोयल मौके पर पुलिस बल के साथ पहुंचे थे। उन्होंने जांच शुरू कर दी है। गोयल के मुताबिक आकाश इंद्रा बस्ती, थाटीपुर का रहने वाला था। फिलहाल समारोह में मौजूद लोगों के बयान लिए गए हैं। फॉरेंसिक जांच की जा रही है। पोस्टमॉर्टम से साफ हो सकेगा कि किस बंदूक से निकली गोली आकाश को लगी है। वहीं, गर्ग ने कहा कि कुछ लोगों ने हर्षफायर में गोली लगने की बात कही है। इसके बाद ही हम हर एंगल से जांच कर रहे हैं। जल्द ही इस हादसे का खुलासा कर देंगे। 

ग्वालियर-चंबल में आम बात है हर्षफायर 

ग्वालियर-चंबल के जिलों में शादी समारोहों के दौरान हर्षफायर होना सामान्य बात है। इसे स्टेटस सिम्बल भी माना जाता है। इस वजह से हर साल औसतन 15 से 20 लोगों की मौतें इन संभागों में हो जाती है। अक्सर देखने में आया है कि हर्षफायर के दौरान महिलाएं-बच्चे भी शिकार होते हैं। 

  



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *