Children of sanitation workers will get free coaching for competitive exams

सफाई कर्मचारी
– फोटो : न्यूज डेस्क, अमर उजाला, इंदौर

विस्तार


इंदौर में सफाई कर्मचारियों के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की नि:शुल्क कोचिंग दी जाएगी। आवासहीन सफाई कर्मचारियों के लिए आवासीय संकुल भी बनाया जाएगा। सफाई कर्मचारियों के रिक्त पदों की पूर्ति और उन्हें स्थाई करने की कार्यवाही शीघ्र की जाएगी। बर्खास्त/निलंबित सफाई कर्मचारियों को अपना पक्ष रखने के लिए एक ओर अवसर दिया जाएगा। इसके लिए शिविर आयोजित किया जाएगा। यह जानकारी राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष प्रताप करोसिया द्वारा सफाई कर्मचारियों के संबंध में ली गई समीक्षा बैठक में दी गई। बैठक में नगर निगम आयुक्त हर्षिका सिंह सहित अन्य अधिकारी और विभिन्न सफाई कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारी मौजूद थे।

         

बैठक में करोसिया ने सफाई कर्मचारियों के उत्थान व कल्याण के संबंध में नगर निगम, आदिम जाति/अनुसूचित जाति कल्याण विभाग, पुलिस, जिला पंचायत, स्वास्थ्य विभाग आदि के अधिकारियों से चर्चा कर समीक्षा की। उन्होंने नगर निगम में स्थाई सफाई कर्मचारियो की संख्या, सफाई कर्मचारियों के रिक्त पदों की जानकारी, दैनिक वेतन भोगी सफाई कर्मचारियों की संख्या, नियुक्ति आदेश, वरिष्ठता सूची, आउटसोर्स के माध्यम से रखे गए सफाई कर्मचारियों की सूची, ठेकेदार एजेन्सी को दिए गए कार्यादेश, आउटसोर्स सफाई कर्मचारियों की सक्षम स्वीकृति, नगर निगम द्वारा  निर्मित किये महर्षि बाल्मिकी सामुदायिक भवनों की जानकारी, सफाई कर्मचारियों के पदोन्नति / स्थाईकरण, वेतन भत्ते में वृद्धि आदि की जानकारी, आवासहीन सफाई कर्मचारियों तथा सफाई कर्मचारियों की बस्ती के विकास, सफाई कर्मचारियों की अनुकंपा नियुक्ति के लंबित प्रकरणों की जानकारी, वर्ष 2021 से 2024 तक दैनिक वेतन भोगी, विनियमित सफाई कर्मचारी और नियमित सफाई कर्मचारियों की निलंबित/बर्खास्त करने की कार्यवाही आदि की समीक्षा की।

इसके साथ ही आदिम जाति/अनुसूचित जाति कल्याण विभाग में संलग्न सफाई कर्मचारियों के छात्र-छात्राओं के लिए आवासीय विद्यालय एवं होस्टल में दाखिले, सफाई कर्मचारियों के बच्चों को दी जाने वाली उत्कर्ष पुरस्कार सहायता राशि, दैनिक वेतन भोगी सफाई कर्मचारी (पार्ट टाईम/फुल टाईम) के वेतन, भत्ते, ई.पी.एफ. एवं ई.एस.आई.सी. आदि की जानकारी एवं अन्य बिन्दुओं पर भी समीक्षा की गई।  

करोसिया ने कहा कि सफाई मित्रों के विकास एवं उत्थान के लिए नगर निगम इंदौर द्वारा बहुत ही अच्छा कार्य किया जा रहा है। साथ ही सफाई कर्मचारियों हेतु निर्मित सामुदायिक भवन के शेष रहे कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। साथ ही आउटसोर्स के माध्यम से विभिन्न विभागों में रखे गए सफाई कर्मचारियों का अनिवार्य रूप से पीएफ जमा कराने के निर्देश भी दिए गए। आवासहीन सफाई कर्मचारियों के आवास, अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरण का समय सीमा में निराकरण करने के संबंध में भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारियों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास भी किए जाएंगे।

नगर निगम आयुक्त हर्षिका सिंह ने कहा कि सफाई कर्मचारियों के बच्चों को नि:शुल्क कोचिंग दी जाएगी जिससे कि उनके बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिल सके। इसके लिए कार्ययोजना बनाई जा रही है।

बैठक में कर्मचारी यूनियन के लीलाधर करोसिया, महेश तोमर, घनश्याम चंदेले, अपर आयुक्त सिद्धार्थ जैन, अभय राजनगांवकर तथा मनोज पाठक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बीएस सैत्या सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *