Gwalior: Congress again attacking regarding UCC, State President Patwari gave statement

ग्वालियर-चंबल की लोकसभा सीटों की समीक्षा करने पहुंचे पीसीसी चीफ जीतू पटवारी
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार


उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के बयान के बाद समान नागरिक संहिता (यूसीसी) का मुद्दा फिर गर्मा गया है। कांग्रेस फिर इस पर हमलावर होती नजर आ रही है। कांग्रेस इसे यूसीसी नहीं बल्कि डीसीसी (डिवाइडिंग सिविल कोड) कह रहे हैं। ग्वालियर दौरे पर गए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने भी इसे देश के लिए घातक बताया है।  

पीसीसी चीफ जीतू पटवारी एक दिवसीय संयुक्त दौरे पर ग्वालियर-चंबल इलाके में थे। ग्वालियर में मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा कि सरकार का रवैया देश में नफरत और घृणा की नई राजनीति फैलाने का है। मैं मानता हूं कि इससे अलग-अलग वर्गों के छात्रों और युवाओं में भी भेदभाव की स्थिति उत्पन्न होगी और ऐसा करके यह देश को अराजकता की ओर ले जा रहे हैं।

बता दें कि लोकसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस पार्टी ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को उनके घर में घेरने के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा ग्वालियर में लोकसभा स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक रखी गई। इसमें ग्वालियर-चंबल अंचल की चारों सीटों को लेकर मंथन किया जा रहा है। प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी भंवर जितेंद्र सिंह, पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने बैठक में अंचल के आला नेताओं और संभावित प्रत्याशियों से वन टू वन चर्चा की। इस स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा बैठक का मसौदा केंद्रीय समिति को सौपा जाएगा।

विधानसभा चुनावों से सबक लेकर जल्द शुरू की तैयारी

मध्य प्रदेश में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी ने लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी हैं प्रदेश में कांग्रेस कैसे अधिक से अधिक सीट हासिल करें इसको लेकर कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी के सदस्यों द्वारा लगातार अलग-अलग संभागों का दौरा किया जा रहा है। 

क्या कहा था धामी ने

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा था कि समान नागरिक संहिता (यूसीसी) का मसौदा तैयार करने के लिये बनाई गई समिति ने अपना कार्य पूरा कर लिया है और जल्द ही इसे लागू किया जाएगा। इसके बाद ये मुद्दा सियासी गलियारों में फिर गर्मा गया है। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *