farmer attempts self-immolation in tehsil Hurt by lack of hearing in Mathura

Mathura: सुनवाई न होने से आहत किसान रविंद्र सिंह ने तहसील में किया आत्मदाह का प्रयास,
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


उत्तर प्रदेश के मथुरा में हैरान करने वाला मामला सामने आया। महावन तहसील में अधिकारियों के चक्कर काटने के बावजूद सुनवाई नहीं हुई। इससे आहत किसान ने शनिवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस के मौके पर तहसील परिसर में आत्मदाह का प्रयास किया। 

किसान ने कोल्ड ड्रिंक की बोतल में लाए पेट्रोल को अपने ऊपर छिड़क लिया। आग लगाने के लिए लाइटर निकाला ही था, कि वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने भागकर उसे छीन लिया। इसके बाद भी उसने कुछ पेट्रोल पी लिया। उसे तत्काल सीएचसी बलदेव भेजा गया। जहां से मथुरा के लिए रेफर कर दिया गया।

बलदेव के नगला गिरधर निवासी किसान रविंद्र सिंह अपने पिता किसान सुरेश चंद्र के साथ सुबह 10 बजे सम्पूर्ण समाधान दिवस में पहुंचा। उसने शिकायत की सुनवाई न होने का आरोप लगाते हुए थैले में रखी पेट्रोल से भरी कोल्ड ड्रिंक वाली बोतल बाहर निकाल ली और अधिकारी व कर्मचारियों के सामने अपने ऊपर उड़ेल लिया। 

यह देखकर मौके पर शोर शराबा हो गया। रविंद्र सिंह ने आग लगाने के लिए जैसे ही लाइटर निकाला, वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने छीन लिया, लेकिन इस बीच उसने बोतल में बचा पेट्रोल पी लिया। इस घटना से तहसील परिसर में अफरातफरी मच गई। इसके बाद में तहसीलदार के निर्देश पर एक टीम को पैमाइश के लिए रविंद्र के गांव भेजा गया।

यह है पूरा मामला

रविन्द्र सिंह के पिता ने राजस्व कर्मियों ने हमारे खेत से जबरन चकरोड निकाल दी है। जमीन की पुनः पैमाइश के लिए तहसील कार्यलय के डेढ़ माह से चक्कर काट रहे हैं, कोई सुनवाई नहीं हुई। उधर, महावन तहसीलदार सुशील कुमार गुप्ता ने बताया चकरोड की पैमाइश के लिए पुनः टीम गठित कर जांच होगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *