Indore News: Leopard attacked the cow, forest department is getting only foot prints, failed to catch the leop

मिले तेंदुए के पंजे के निशान।
– फोटो : amar ujala digital

विस्तार


इंदौर के नैनोद क्षेत्र में फिर तेंदुए का मूवमेंट पता चला था। बीते तीन दिन से तेंदुए को किसी ने नहीं देखा था, लेकिन मंगलवार को तेंदुए ने एक गाय पर हमला कर दिया। गाय की पीठ पर तेंदुए ने दांत और पंजे के निशान नजर आ रहे है। गाय का पशु विभाग इलाज कर रहा है। हमले की सूचना मिलने के बाद वन विभाग का अमला मौके पर पहुंचे।

अमले को  क्षेत्र में दूसरी बार तेंदुए के फुट प्रिंट मिले, लेकिन तेंदुुआ वन विभाग द्वारा लगाए गए पिंजरों में नहीं जा रहा है। अब वन विभाग ने क्षेत्र में अलर्ट जारी किया है कि छोटे बच्चों को अकेले बाहर न भेजे। तेंदुए के कारण क्षेत्र में दशहत फैली है।

लोग शाम के बाद घर से निकलने में डर रहे है। वन विभाग अब रात के समय भी ड्रोन की मदद से तेंदुए को तलाशेगा और अफसरों का कहना है कि तेंदुुआ  भूखा है और अब ज्यादा हमलावर हो सकता है।

मंगलवार को नैनोद के रैन बसेरा के समीप ग्रामीणों का गाय घायल हालत मेें दिखी। सकी पीठ पर निशान थे। ग्रामीणों नेे वन विभाग को सूचना दी। घटनास्थल पर तेंदुए के निशान भी मिले। क्षेत्र में वन विभाग ने दो पिंजरे और छह कैमरे लगाए है।

15 दिन से क्षेत्र में घूम रहा तेंदुुआ 

सुपर काॅरिडोर और आसपास की काॅलोनियों में तेंदुुआ  पिछले 15 दिन से घूम रहा है। सबसे पहले उसे सुपर काॅरिडोर की आईटी कंपनी इंफोसिस के कैम्पस में देखा गया था। वहां वन विभाग ने पिंजरे लगाए,लेकिन तेंदुुआ  पकड़ में नहीं आया।

इसके बाद सुपर काॅरिडोर की एक काॅलोनी के सीसीटीवी कैमरे में भी वह कैद हुआ। तेंदुआ एक बछड़े पर भी हमला कर चुका है। अब फिर नैनोद क्षेत्र में गाय पर हमला किया। तेंदुए के अलावा तेंदुए के एक बच्चे के भी क्षेत्र में रहने की आशंका है।  



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *