Chhatarpur News Giving bribe to IAS Tapasya Parihar cost teacher dearly arrested

IAS तपस्या परिहार और पुलिस संग शिक्षक
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


छतरपुर जिला मुख्यालय पर मंगलवार को एक सनसनीखेज मामला सामने आया, जब आईएएस अधिकारी और जिला पंचायत की सीईओ तपस्या सिंह परिहार ने निलंबित चल रहे एक शिक्षक को अपने चैंबर से गिरफ्तार करवा दिया।

दरअसल, यह शिक्षक अपनी बहाली के लिए जिला पंचायत सीईओ के कक्ष में आवेदन पत्र के साथ 50 हजार रुपये की रिश्वत से भरा लिफाफा लेकर पहुंच गया था। इसी बात से नाराज सीईओ ने शिक्षक विशाल अस्थाना को गिरफ्तार करा दिया।

ये है मामला

जानकारी के मुताबिक, सटई संकुल क्षेत्र के ग्राम कुपिया में स्थित माध्यमिक शाला में विशाल अस्थाना नामक शिक्षक पदस्थ है। विधानसभा चुनाव के दौरान विशाल अस्थाना लगातार अपनी ड्यूटी से गायब रहे। उन्होंने चुनाव संबंधी प्रशिक्षण में भी हिस्सा नहीं लिया, जिसके कारण उन्हें निलंबित कर दिया गया था। विशाल अस्थाना तभी से निलंबित थे और अपनी बहाली के लिए लगातार परेशान हो रहे थे।

मंगलवार शाम करीब पांच बजे वे कलेक्ट्रेट में स्थित जिला पंचायत सीईओ तपस्या परिहार के चैंबर में पहुंच गए। यहां उन्होंने अपनी बहाली को लेकर एक आवेदन पत्र दिया और साथ में ही 50 हजार रुपये की राशि से भरा लिफाफा भी मैडम की टेबिल पर रख दिया। मैडम ने जब शिक्षक की यह हरकत देखी तो तत्काल उसे फटकार लगाई और सिटी कोतवाली टीआई अरविंद कुजूर को फोन लगाकर पुलिस को मौके पर बुला लिया। सिटी कोतवाली पुलिस ने इस शिक्षक को खुलेआम रिश्वत देने के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया है, अब उन पर विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *