Another petition in Shri Krishna Janmabhoomi case, allegations like Gyanvapi

श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर।
– फोटो : अमर उजाला।

श्रीकृष्ण जन्मभूमि-ईदगाह प्रकरण में एक और याचिका दाखिल की गई है। मथुरा के सिविल जज सीनियर डिवीजन कोर्ट में दायर इस याचिका में वादी ने ज्ञानवापी जैसे तथ्यों का जिक्र किया है। अधिवक्ता पंकज जोशी के अनुसार वादी पीवी रघुनन्दन द्वारा न्यायालय के समक्ष दायर याचिका/वादपत्र दायर किया गया है। 

याचिका में दावा किया गया है कि वास्तविक श्रीकृष्ण जन्म स्थान पर बने मंदिर को आक्रमणकारी औरंगजेब द्वारा ध्वस्त कराकर उसी के मलबे से ईदगाह मस्जिद का निर्माण कराया गया। मस्जिद के पश्चिम में श्रीकृष्ण जन्मभूमि ट्रस्ट आदि द्वारा बाद में बनाए गए चबूतरे को श्रीकृष्ण जन्म स्थल हिन्दी व अंग्रेजी में लिखकर दिखाया जा रहा है, जो कि गलत है। 

याचिका में प्रतिवादीगण को इस कार्य से निषेधित करने के लिए निषेधाज्ञा की मांग की गई है। पंकज जोशी ने बताया कि बुधवार को यह याचिका दाखिल की गई है। बता दें कि बृहस्पतिवार को ज्ञानवापी सर्वे के संबंध में पक्षकार ने दावा किया था कि वाराणसी जिला कोर्ट ने एएसआई की सर्वे रिपोर्ट में ये पाया है कि मस्जिद से पहले वहां हिन्दू मंदिर था। 

एएसआई ने ये पाया है कि हिन्दू मंदिर को 17वीं शताब्दी में तोड़ा गया है और मस्जिद बनाने में मलबे का उपयोग किया गया है। पीवी रघुनन्दन की याचिका बहुत हद तक ज्ञानवपी में आए फैसले के बिंदुओं से मेल खाती है। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि इस याचिका पर सुनवाई अन्य 18 वादों की तरह इलाहाबाद हाईकोर्ट में होगी या फिर स्थानीय कोर्ट खुद करेगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *