Saint Premanand explained reason for not reaching Ayodhya for life consecration ceremony of Shri Ram

संत प्रेमानंद गोविंद शरण
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


अयोध्या में बने भव्य मंदिर में भगवान श्रीराम बाल स्वरूप में विरजामान हुए हैं। भगवान के प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में 22 जनवरी को देश-दुनिया से संत, महंत, महामंडलेश्वर और विशिष्ट अतिथि बड़ी संख्या में पहुंचे। लेकिन, तीर्थनगरी मथुरा के वृंदावन से संत प्रेमानंद महाराज नहीं पहुंच पाए। 

संत प्रेमानंद ने अयोध्या में हुए रामोत्सव और रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या न जाने की पीछे की वजह बताई। उन्होंने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर किया। इसमें कहा कि कुछ प्रेमीजनों ने कहा कि अयोध्या धाम में भगवान राम विराजमान हो गए और आप नहीं जा सके। इस पर कहा कि ये हमारा दुर्भाग्य है, किडनी रोग से ग्रस्त हैं, इसलिए नहीं जा सके। श्रीधाम की निष्ठा पर दशरथ नंदन श्रीराम को ह्रदय से आशीर्वाद देते हैं। वे हमारे लाल हैं। हम उन्हें आशीर्वाद देते हैं। हमें आशीर्वाद देने का पॉवर मिला है। 

ज्ञात हो कि संत प्रेमानंद राधारानी के अनन्य भक्त हैं। वह जहां स्वयं राधारानी की सेवा की सेवा में रत रहते हैं, वहीं भक्तों को भी यही संदेश देते हैं कि श्रीधाम सेवा और श्रीराधारानी की सेवा एवं नामजप करो। उनसे मिलने के लिए भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली पत्नी अनुष्का शर्मा के साथ आए थे। इसके बाद संघ प्रमुख मोहन भागवत और पिछले दिनों ग्रेट खली भी उनका आशीर्वाद लेने आए थे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *