Ram Pran Pratistha Fireworks burst in Gorakhpur then black poison mixed in air

अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा के दिन जमकर हुई आतिशबाजी।
– फोटो : अमर उजाला।

विस्तार


गोरखपुर शहर की आबोहवा एक बार फिर खराब हो गई है। रविवार को शहर में वायु गुणवत्ता सूचकांक 84 दर्ज किया गया था। जबकि, सोमवार को 130 और मंगलवार की सुबह 160 पर पहुंच गया। विशेषज्ञों का मानना है कि सोमवार को पूरे दिन हुई आतिशबाजी के चलते ही प्रदूषण का स्तर अचानक बढ़ गया। ऐसे में मार्निंग वॉक सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। वहीं, डॉक्टर की सलाह है कि ऐसे समय हृदय और सांस के मरीजों को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।

पिछले चार दिनों से चल रहे पछुआ हवा के चलते वातावरण में नमी बनी हुई है। बावजूद इसके शहर में आबोहवा स्वच्छ श्रेणी में थी। शनिवार को एक्यूआई 120 था जो रविवार को घटकर 84 पहुंच गया था। इसके बाद सोमवार को श्रीराम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा की खुशी में शहर में जमकर आतिशबाजी हुई। परिणाम स्वरूप सोमवार की रात में एक्यूआई बढ़कर 130 पहुंच गया। मंगलवार की सुबह 11 बजे बढ़कर यह 160 तक पहुंच गया था।

प्रदूषण का यह आलम तब है, जब शहर में इन दिनों ज्यादातर निर्माण कार्य बंद है। मौसम विशेषज्ञ जयप्रकाश के मुताबिक वातावरण में नमी के चलते प्रदूषण के कण वायुमंडल में ऊपर नहीं जा पा रहे हैं। जिससे कोहरा व धुंध बना हुआ है। हवा की रफ्तार धीमी होने के चलते कण निचले स्तर पर बने हुए है। ऐसे में सोमवार को जमकर हुई आतिशबाजी से प्रदूषण के स्तर में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।

इसे भी पढ़ें: गोरखपुर के तापमान में उतार-चढ़ाव, बढ़ सकती हैं मुश्किलें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *