Rashtriya Swayamsevak Sangh moved from resolution to accomplishment In centenary year

Rashtriya Swayamsevak Sangh
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ शताब्दी 2024-25 में अपने संकल्पों की सिद्धी की ओर बढ़ रहा है। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 की समाप्ति का संकल्प 5 अगस्त 2019 को पूरा हो चुका है। अब 22 जनवरी को अयोध्या में राममंदिर में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के साथ ही संघ का दूसरा बड़ा संकल्प भी पूरा हो जाएगा। 

अब संघ और अनुषांगिक संगठन देश में समान नागरिक संहिता लागू करने के अपने तीसरे संकल्प को सिद्ध करने की दिशा में आगे बढ़ेंगे। संघ का शताब्दी वर्ष 2024 में शारदीय नवरात्रि की रामनवमी से शुरू होगा, जो 2025 के शारदीय नवरात्रि की रामनवमी तक चलेगा। 

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण, जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 की समाप्ति और समान नागरिक संहिता संघ के तीन बड़े मुद्दे रहे हैं। इनमें से दो बड़े मुद्दे मोदी सरकार 2.0 में पूरे हो गए हैं। मध्यप्रदेश और उत्तराखंड में समान नागरिक संहिता के लिए कमेटी का गठन भी हो चुका है। 

सूत्रों के मुताबिक अब शताब्दी वर्ष में संघ समान नागरिक संहिता लागू कराने की दिशा में आगे बढ़ेगा। अनुषांगिक संगठन इसके लिए माहौल बनाने के साथ व्यापक सहमति बनाने का प्रयास करेंगे। विहिप के अवध प्रांत के अध्यक्ष कन्हैया अग्रवाल कहते हैं कि हर वो काम जो देश के हित में है वह करना है। समान नागरिक संहिता निश्चित तौर पर एक विचारणीय बिंदु है, समय आने पर यह भी पूरा होगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *