Indore: Now old multi-storey buildings will be demolished and new ones will be built in Indore, residents will

जर्जर भवनों के स्थान पर नए निर्माण को लेकर बैठक हुई।
– फोटो : amar ujala digital

विस्तार


इंदौर में रिडेसिंफिकेशन योजना के तहत हाऊसिंग बोर्ड पुरानी मल्टियों को तोड़कर नई बिल्डिंग बनाएगा। शुरुआत एलआईजी और नेहरू नगर की जर्जर मल्टियों को तोड़कर की जा रही है। बोर्ड नई बिल्डिंग में  रहवासियों को 20 प्रतिशत ज्यादा फ्लोर एरिया भी देगा।

कलेक्टर कार्यालय में इस योजना को लेकर रविवार को एक बैठक भी आयोजित की गई। बैठक में कहा गया कि मप्र आवास पुनर्विकास नीति 2022 के तहत एलआईजी और नेहरू नगर की पुनर्विकास परियोजना प्रस्तावित है।

हाऊसिंग बोर्ड के अफसरों ने बताया कि नेहरू नगर मंडल द्वारा विकसित किया गया है। नगमर की सभी बिल्डिंगे 50 वर्ष से अधिक पुरानी है। जिन्हें नगर निगम ने वर्ष 2018 में खतरनाक घोषित किया है।वे बिल्डिंगे अब मरम्मत लायक भी नहीं बची है। इस वहज से वे कभी भी गिर सकती है और जनहानी हो सकती है।

बैठक में कलेक्टर आशीष सिंह ने निर्देश दिए की जब तक यह प्रोजेक्टर पूरा होगा। तब तक रहवासियों को अन्य स्थान पर रहने के लिए  प्रचलित दर के हिसाब से किराया दिया जाएगा। इसी के साथ ही प्रोजेक्ट खत्म होने के बाद रहवासियों की रजिस्ट्री निशुल्क कराई जाएगी।

हाउसिंग बोर्ड के अधिकारियों द्वारा बताया गया कि पुनर्विकास परियोजना पश्चात जितने भी रहवासी यहां निवासरत है उनके भवन के वर्तमान क्षेत्रफल में 20 प्रतिशत इजाफे के साथ नया फ्लोर एरिया मिलेगा। बैठक में अफसरों ने कहा कि आईटीआई एवं होलकर शासकीय महाविद्यालय की चिन्हित भूमि पर पुनर्घनत्वीकरण योजना के तहत नया निर्माण किया जा सकता है। आईटीआई की 1.50 हेक्टेयर भूमि पर नए छात्रावास और स्पोर्ट काम्प्लेक्स का निर्माण किया जा सकता है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *