yati narsinghanand spoke in Aligarh

सनातन धर्म सभा में यति नरसिंहानंद महाराज
– फोटो : संवाद

विस्तार


विवादित बोल को लेकर सुर्खियों में रहने वाले महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद महाराज ने आरोप लगाया कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में आतंकवादी पैदा हो रहे हैं, जो उनकी हत्या करने चाहते हैं। कहा कि जितने आतंकवादी उन्हें मारने के लिए जाते हैं, वे यहीं से जाते हैं। इनमें पीएचडी, एमटेक डिग्री धारी और डॉक्टर शामिल हैं। 

वह 16 जनवरी को अलीगढ़ में मां बगलामुखी मंदिर सनातन हिंदू सेवा संस्थान द्वारा अचलताल स्थित रामलीला मैदान में आयोजित सनातन धर्म रक्षा सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने शासन एवं जिला प्रशासन से एएमयू पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। उन्होंने हिंदुओं से अपने परिवार की रक्षा का दायित्व लेने एवं अपने परिवार को बड़ा और मजबूत करने को कहा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर बन रहा है। इसकी बेहद खुशी है, लेकिन इसे फिर से न तोड़ा जाए इसके लिए हिंदुओं को संगठित होना पड़ेगा।

कार्यक्रम में प्रदेश के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह ने कहा कि शिक्षा ही एकमात्र ऐसा माध्यम है जो भारत को विश्व गुरु बनाने का काम कर रही है। अखिल भारत हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव एवं निरंजनी अखाड़े की महामंडलेश्वर डॉ. अन्नपूर्णा भारती पुरी ने कहा कि 2024 में मोदी का एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनना जरूरी है, क्योंकि यह सनातन का वर्ष है। 

कार्यक्रम को विधान परिषद सदस्य डॉ. मानवेंद्र प्रताप सिंह, चौधरी ऋषिपाल सिंह, कारोबारी निशांत सिंघल आदि ने भी अपने विचार रखे। अध्यक्षता डॉ. संजय भार्गव ने एवं संचालन डॉ. अशोक पांडेय ने किया। यहां संयोजक आरके जिंदल, कुल सुमन गोयल, अतुल अग्रवाल, देवेंद्र राघव आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे। 

कटार देते यति नरसिंहानंद महाराज

लड़कियों को आत्मरक्षा के लिए बांटी गईं कटार 

अखिल भारत हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव एवं निरंजनी अखाड़े की महामंडलेश्वर डॉ. अन्नपूर्णा भारती पुरी ने कार्यक्रम के दौरान लड़कियों को कटार (चाकू) का वितरण किया। उन्होंने कहा कि बालिकाओं को आत्मरक्षा के लिए यह कटार प्रदान की गईं हैं, ताकि उनकी अस्मिता एवं मान-सम्मान पर कोई आंच न आ सके।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *