Indore: Swaraj Swabhiman Yatra started from Rajwada with recitation of Hanuman Chalisa.

राजवाड़ा से स्वाभिमान यात्रा निकली।
– फोटो : amar ujala digital

विस्तार


अयोध्या में होने वाले राम मंदिर के लोकार्पण के उपलक्ष्य में इंदौर के राजवाड़ा पर हजारों महिला व पुरुषों ने हनुमान चालीसा का पाठ किया। उसके बाद शुरू हुई स्वराज्य स्वाभिमान यात्रा भी निकली। जिसमें हाथी, घोड़े,पालकी भी थी। यात्रा में पारंपरिक वेशभूषा में समाजजन शामिल हुए। महिलाएँ जीजामाता के रूप में और बच्चे बाल शिवाजी की वेशभूषा में थे। स्वराज्य स्वाभिमान यात्रा राजबाडा से निकल कर जिजाऊ चौक (तीन पुलिया ) पहुँची।

सर्व मराठी भाषी संघ की अध्यक्ष श्रीमती स्वाति युवराज काशिद ने बताया कि 12 जनवरी को राजमाता जिजाऊ की जयंती देश भर में मनाई जाती है जीजामाता भारत की वह महान नारी शक्ति है जिनके संस्कारों के कारण ही शिवाजी महाराज हिंदवी स्वराज को स्थापित कर पाए।

अब तक इंदौर में राजमाता जिजाऊ की कोई प्रतिमा नहीं थी लेकिन स्वराज्य स्वाभिमान उत्सव के तहत बीते वर्ष तीन पुलिया चौराहे पर जीजामाता की प्रतिमा स्थापित की।

बच्चो को निःशुल्क शस्त्र कला प्रशिक्षण

स्वाति काशिद ने बताया कि महिलाओं और युवतियों के साथ होने वाली छेड़छाड़ और लव जिहाद जैसे बढ़ते अपराधों के लिए भी जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। बच्चे लगातार मोबाइल में व्यवस्त रहते है। इससे उनकी शारीरिक गतिविधियाँ नहीं हो पाती है।

हमारी संस्था द्वारा यह फैसला लिया गया कि इस वर्ष हम जिजाऊ जनमोत्स्व 7 दिवसीय निशुल्क शस्त्र कला प्रशिक्षण के साथ मनाएंगे। जिसमें महिलाओं, युवतिओं एवं हजारो की संख्या में बच्चे शामिल हो रहे है। उन्हें लाठी काठी, दानपट्टा, तलवारबाजी, ढोल-लेजिम, ध्वजपथक का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *