कुठौंद। (जालौन) पुलिस प्रशासन की अनदेखी के चलते शेरगढ़ घाट यमुना नदी पुल पर रोक के बाद भी भारी वाहन फर्राटा भरते दिखे। अहम बात यह है कि यमुना नदी पुल से पहले शंकरपुर चौकी स्थित है पर वहां पर किसी भी पुलिसकर्मियों के अनदेखी के चलते भारी वाहन चालक फर्राटा भरते हैं। इससे लगातार खराब हो रही पुल की स्थिति के चलते कोई बड़ा हादसा हो सकता है।
शेरगढ़ घाट स्थित यमुना नदी पुल की जर्जर हालत के चलते भारी वाहनों का आवागमन पूरी तरह से बंद करने का गुरुवार को डीएम ने पुलिस को आदेश दिया था। शुक्रवार को सुबह तो पुलिस प्रशासन सतर्क दिखा पर को रोक के बावजूद शुक्रवार सायं भारी वाहन पुल पर फर्राटा भरते दिखे।
वहीं, इन भारी वाहनों को पुल पर जाने से रोकने के लिए यमुना नदी के पास बनी देवकली चौकी पर सुबह के समय खाकी नदारत दिखी। जिसका भारी वाहन चालक पूरा फायदा उठाते रहे।
बता दें कि शेरगढ़ घाट स्थित यमुना नदी पुल पर भारी वाहनों के आवागमन पर रोक लगने के कारण इन वाहनों को झांसी व उरई जाने के लिए बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के रास्ते से लगभग 24 किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ रही है। इस दूरी को तय करने से बचने के लिए भारी वाहन चालक चोरी छिपे यमुना नदी पुल के रास्ते जालौन जिले की सीमा में आ रहे हैं।
पुल पर भारी वाहनों को रोकने के लिए पुलिस को सख्त निर्देश दिए गए हैं। फिर भी वाहन जा रहे हैं तो इसे दिखवाती हूं। वैसे एक-दो दिन में पुल पर ऊंची बैरिकेडिंग लगा दी जाएगी। जिससे कोई भी भारी वाहन पुल के रास्ते जालौन जिले की सीमा में आवागमन नहीं कर पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *