marry com kabir bedi motivational speech

मैरी कॉम और कबीर बेदी ने दिए सफलता के मंत्र
– फोटो : अमर उजाला, इंदौर

विस्तार


डेली कॉलेज ने रविवार को अपना वार्षिकोत्सव धूमधाम से मनाया। कार्यक्रम के आरंभ में मंच पर आसीन डेली कॉलेज बोर्ड के अध्यक्ष महाराज विक्रम सिंह पुआर, उपाध्यक्ष राजवर्धन सिंह का स्वागत किया गया। फिर डेली कॉलेज बोर्ड के अध्यक्ष महाराज विक्रम सिंह पुआर ने आज के दो मुख्य अतिथियों मैरी कॉम और कबीर बेदी का स्वागत किया। इसके बाद प्राचार्या डॉ. गुनमीत बिन्द्रा ने मैरी कॉम और कबीर बेदी के प्रेरणास्पद व्यक्तित्व को उनकी महान उपलब्धियों और उनके कार्यों के माध्यम से याद किया। 

मैरी कॉम और कबीर बेदी ने दिए सफलता के मंत्र

गैरपेशेवर मुक्केबाजी की विश्व-चैम्पियन तथा ओलंपिक में कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम ने डेली कॉलेज की प्रगति की सराहना की और विद्यार्थियों की उपलब्धियों पर प्रसन्नता प्रकट की। उन्होंने इस बात के लिए ओल्ड डेलियंस की तारीफ की कि डेली कॉलेज के साथ उनका कितना गहरा आत्मीय रिश्ता है। उन्होंने अपनी बड़ी उपलब्धियों के पीछे संघर्ष के विराट इतिहास को भी रेखांकित किया और विशेष रूप से छात्राओं से कहा कि वे अपने जीवन में लक्ष्यों को हासिल करने के लिए खूब मेहनत करें और जीवन को सार्थक बनाएं। 

इसके पश्चात फिल्म अभिनेता और लेखक कबीर बेदी ने कहा कि मानव-जीवन का इतिहास पिछले 120 वर्षों में आश्चर्यजनक रूप से बदला है। हमें इस बदलाव को गहराई से समझना होगा और इस पृथ्वी के वातावरण को संतुलित रखने के लिए प्रयास करने होंगे। उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि ज्ञान अर्जित करना एक बात है और कल्पनाशीलता दूसरी बात है। हमें अपनी कल्पनाशीलता को बढ़ाने के निरंतर प्रयास करते रहने चाहिए तभी इस धरती पर नवोन्मेष और नवाचार की संभावनाओं के द्वार खुलेंगे। 

नाटक में बताई महिलाओं की सामाजिक भूमिका

इसके बाद डेली कॉलेज के विद्यार्थियों ने एक भव्य सांगीतिक नाटक खेला। इसका शीर्षक था इनायत। इनायत में संसार की तमाम महिलाओं की जीवन-यात्रा को रेखांकित किया गया था। इस अनूठी प्रस्तुति के समापन के पश्चात डेली कॉलेज बोर्ड के अध्यक्ष महाराज विक्रम सिंह पुआर ने मुख्य अतिथियों को चिह्न भेंट किए। इस अवसर पर डेली कॉलेज बोर्ड तथा ओल्ड डेलियन एसोसिएशन के सदस्य, वरिष्ठ उपप्राचार्य, उपप्राचार्य-द्वय के अलावा बड़ी संख्या में ओल्ड डेलियन, अभिभावक, विद्यार्थी, शिक्षक समुदाय और वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *