MP Election 2023 Congress MLA Phool Singh Baraiya will blacken his face date and place told

कांग्रेस विधायक फूल सिंह बरैया
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


मध्यप्रदेश में विधानसभा का चुनाव संपन्न होने के बाद अब सोशल मीडिया पर कांग्रेस विधायक फूल सिंह बरैया की तलाश की जा रही है। बरैया भले ही विधानसभा चुनाव जीत गए हों, लेकिन जो उन्होंने दावा और चैलेंज किया था, वह झूठा साबित हो गया। इसलिए सोशल मीडिया पर लोग उनके दावे को लेकर खूब मजे ले रहे हैं। बता दें कि दतिया जिले की भांडेर सीट से बरैया विधायक हैं।

बताते चलें चुनाव से पहले उन्होंने चैलेंज किया था कि अगर इस चुनाव में बीजेपी की 50 सीटों से ज्यादा आई तो राजभवन के सामने अपना मुंह काला कर लेंगे। लेकिन इस चुनाव में बीजेपी ने रिकॉर्ड 163 सीटें हासिल कर ली हैं। इस बयान को लेकर फूल सिंह बरैया ने कहा है कि वह सात दिसंबर को राजभवन के सामने अपना मुंह काला करेंगे और वह अपने बयान पर कायम हैं।

दरअसल, विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता फूल सिंह बरैया मीडिया को दिए गए इंटरव्यू में यह प्रतिज्ञा ली थी कि अगर इस विधानसभा चुनाव में बीजेपी की 50 से ज्यादा सीटें आईं तो वह राजभवन के सामने अपने हाथों से अपना मुंह काला कर लेंगे। उन्होंने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी 2023 की विधानसभा चुनाव में 50 सीटें भी नहीं ला पाएगी। फूल सिंह इस चुनाव में अपना चुनाव तो जीत गए, लेकिन उन्होंने जो दावे किए थे वह सभी दावे झूठे निकले और भारतीय जनता पार्टी ने प्रचंड बहुमत से जीत हासिल की है।

चुनाव में प्रचंड बहुमत से जीतकर आई भारतीय जनता पार्टी के बाद अब लोग सोशल मीडिया पर कांग्रेस विधायक फूल सिंह बरैया का काला मुंह करने वाला बयान शेयर कर रहे हैं। साथ ही कह रहे हैं कि कहां मिलेंगे, उनकी तलाश की जाए। फूल सिंह बरैया का सोशल मीडिया पर मुंह काला करने वाला बयान जमकर वायरल हो रहा है। वहीं, इस बयान को लेकर कांग्रेस विधायक फूल सिंह का बयान आया है, उन्होंने कहा है कि मैं अपने बयान पर कायम हूं, सात दिसंबर को राजभवन के सामने वह अपना मुंह काला करेंगे।

प्रदेश का बड़ा दलित चेहरा हैं फूल सिंह बरैया 

कांग्रेस नेता फूल सिंह बरैया प्रदेश के बड़े दलित नेता के तौर पर जाने जाते हैं। MP में BSP से अपनी सियासी शुरुआत करने वाले बरैया कद्दावर नेता बन गए थे। साल 1998 में दिग्विजय सरकार के समय MP में बरैया BSP की बड़ी ताकत थे। लेकिन 2003 के आसपास मायावती से मतभेद के बाद फूल सिंह बरैया को BSP छोड़ना पड़ी। उसके बाद बरैया ने समता समाज पार्टी बनाई, लेकिन वो खुद विधानसभा चुनाव हार गए। साल 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले फूल सिंह बरैया को कमलनाथ ने कांग्रेस में शामिल कराया और 2020 विधानसभा उप चुनाव में भांडेर विधानसभा उपचुनाव में टिकट दिया। लेकिन बरैया को BJP की रक्षा सिरोनिया से महज 100 वोट से हरा दिया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *