उरई/रामपुरा/कोंच। सोमवार को हुई बारिश से किसान खुश हो गए। सर्दी के सीजन में दूसरी बार हुई बारिश से रबी की फसलों को फायदा है, लेकिन मटर को नुकसान हो सकता है।

जिले में करीब ढाई लाख किसान है। किसानों ने मटर, अरहर, चना, मसूर और गेहूं की बुआई की है। सोमवार को हुई बारिश से फसलों को संजीवनी मिली है। जिला कृषि अधिकारी गौरव यादव ने बताया कि कोंच समेत जिले के अन्य क्षेत्रों में करीब एक लाख हेक्टेयर में मटर की फसल की गई है। करीब 30 हजार हेक्टेयर में मसूर और 40 हजार हेक्टयेटर में चने की बुआई की गई है। उन्होंने बताया कि अभी बहुत ज्यादा बारिश नहीं हुई है। अब तक हुई बारिश फसलों के लिए फायदेमंद है। हालांकि कुछ जगहों पर मटर की फसल को हल्का नुकसान हुआ है। बारिश के पानी के वजन से मटर के पौधे झुक गए हैं फलियां जमीन से छू गई हैं। इन फलियों के सड़ने का खतरा है। इससे मटर उत्पादक किसानों को हल्का नुकसान है।

कुछ किसानों ने बारिश से हाल में हुई गेहूं की बुआई को नुकसान को बताया है। ग्राम पचोखरा निवासी किसान देवेंद्र, सुनील, इंदल, अशोक, सुकु ने बताया कि हाल में गेहूं की बुआई की थी, बारिश से बीज सड़ने का खतरा है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *