MP Election Result: Kamal Nath says I do not care about any poll, I have faith in voters of Madhya Pradesh

पीसीसी चीफ कमलनाथ
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 के नतीजे कल यानी रविवार को आने वाले हैं। एग्जिट पोल आने के बाद से कांग्रेस और बीजेपी दोनों अपनी-अपनी जीत का दावा कर रही हैं। इसी बीच भोपाल में पीसीसी चीफ कमलनाथ ने मतगणना से पहले बड़ा बयान दिया है। कमलनाथ ने कहा कि कल इसी टाइम लंबी चर्चा करेंगे, आज कुछ बोलने की आवश्यकता नहीं है।

 

भाजपा कर रही नाटक

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एग्जिट पोल को लेकर कहा कि मुझे कोई पोल से मतलब नहीं है, मतदाताओं पर भरोसा है। मुझे मध्य प्रदेश के मतदाता पर भरोसा है। वहीं, निर्दलीय प्रत्याशियों से बात करने को लेकर उन्होंने कहा कि इसकी कोई आवश्यकता नहीं है। भाजपा के पास इतनी सीट हैं तो क्यों नाटक कर रही है। इससे बात करो, उससे बात करो।

 

नतीजे आने से पहले कांग्रेस ने लगाए बधाई के होर्डिंग

वहीं, एमपी विधानसभा चुनाव 2023 का परिणाम आने से पहले ही कांग्रेस द्वारा राजधानी भोपाल में अपनी जीत के होर्डिंग लगाने का मामला सामने आया है। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय के सामने लगा होर्डिंग कांग्रेस के मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष और प्रवक्ता अब्बास हफीज ने लगाया है। इसमें वह प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को बधाई देते नजर आ रहे हैं। साथ ही इसमें लिखा है कांग्रेचुलेशन, जनता का देने साथ फिर आ रहे हैं कमलनाथ। कांग्रेस का यह होर्डिंग चर्चा का विषय बन गया है।

 

भाजपा ने कांग्रेस पर ली चुटकी

वहीं, भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शिवम शुक्ला ने कांग्रेस के होर्डिंग पर तंज कसते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस के अतिउत्साही नेता बचकानी हरकतों पर उतारू हैं। जनता के मूड और मिजाज की यही नासमझी उनको चुनाव में भारी पड़ी है। लोकतंत्र में जनता सर्वोपरि है, नेताओं को तुष्ट करने के इन्हीं प्रयासों में लगे रहे कांग्रेस के कार्यकर्ता जनता का विश्वास नहीं प्राप्त कर पाए। एग्जिट पोल के बाद से ही कांग्रेस में बेचैनी है।

 

उन्होंने कहा कि मतदान के तत्काल बाद दशकों का अनुभव रखने वाले कमलनाथ जी और दिग्विजय जी ने हार की स्वीकारोक्ति के रूप ने ईवीएम में छेड़छाड़ की बात की। प्रशासन पर अविश्वास प्रदर्शित किया और चुनाव आयोग को संदेह के घेरे में ले आए, ताकि हार की वास्तविक जवाबदेही से बच सकें।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *