MP Election 2023 Talk of creating storm in BJP vote counting training video viral on social media

मतगणना ट्रेनिंग
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


भाजपा मतगणना ट्रेनिंग का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें ट्रेनिंग में प्रत्याशियों और एजेंट से मतगणना के दौरान सबसे आगे बैठने की बात कही जा रही है। साथ ही उनसे कहा जा रहा है कि अगर जगह न मिले तो वहां बवंडर खड़ा कर दें।

कांग्रेस ने इस वीडियो पर निशाना साधा है। प्रदेश अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक पीयूष बबेले ने यह वीडियो ट्वीट कर भाजपा को घेरने का प्रयास किया है। उन्होंने ट्वीट किया कि भाजपा के षड्यंत्र का खुलासा। काउंटिंग एजेंट से बवंडर खड़ा करने के लिए कहा जा रहा है। भाजपा मतगणना में उत्पात करना चाहती है। भाजपा सत्ता लूटना चाहती है, लेकिन इस बार कांग्रेस कार्यकर्ता धूल चटा देगा। कांग्रेस के सज्जन वर्मा ने भी इसे बीजेपी का षड्यंत्र बताया है।

 

महापौर चुनाव से लें सबक

बीजेपी ने शुक्रवार को अपने प्रत्याशियों और पोलिंग एजेंट को मतगणना से जुड़ी ट्रेनिंग दी है। भोपाल में भी प्रदेश भाजपा कार्यालय में भोपाल की सात विधानसभा सीटों के प्रत्याशियों और एजेंट्स को प्रशिक्षण दिया गया। उन्हें मतगणना से जुड़ी बारीकियों को बताया गया। ट्रेनिंग में कहा गया कि इसी साल हुए महापौर चुनाव के दौरान काउंटिंग में जो गलतियां हुई, उन्हें न दोहराया जाए। इसके साथ ही पोस्टल बैलेट की गिनती के समय भी खास एतियात बरतने को कहा गया है। कांग्रेस से अलर्ट रहने की बात भी ट्रेनिंग में कही गई।

तीन दिसंबर को होना है मतगणना

बता दें, मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के मत 17 नवंबर को पड़े थे। अब इनकी गिनती तीन दिसंबर को को जानी है। चुनाव आयोग इसके लिए तैयारियों में युद्ध स्तर पर जुटा है। परिणाम जल्दी आ सकें, इसके लिए कई जगह काउंटिंग टेबल भी बढ़ाए जाने का भी काम किया जा रहा है।

भाजपा का पक्ष

भाजपा के बवंडर काटने वाले वीडियो पर बीजेपी प्रवक्ता शुभम शुक्ला ने कहा कि राजनीतिक मर्यादाओं को तार-तार करना कांग्रेस का चरित्र रहा है। कांग्रेस की उत्पत्ति के बाद से ही कांग्रेस ने लोकतंत्र को अपमानित करने का काम किया है। इसकी साक्षी देश की जनता है। भाजपा ने कभी भी मर्यादाओं का अतिक्रमण करने का प्रयास नहीं किया है। राजनीतिक अधिकारों को लेकर सदैव भाजपा कार्यकर्ताओं में चेतना का भाव रहा है। जो बवंडर जनता ने काटा है और जिस तरह से एग्जिट पोल के नतीजे सामने आए हैं, उससे स्पष्ट है कि मतदान की बात से ही कांग्रेस के नेताओं को अपनी हार का आभास हो गया था।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *