उरई। औपचारिकता के साथ यातायात माह पूरा हो गया। कहने को पुलिस ने इस महीने खूब पाठशाला लगाई।

रैलियां निकालीं। चालान कार्रवाई भी की। लेकिन, यातयात का पाठ ठीक से नहीं पढ़ा पाई। नतीजा यह हुआ कि सड़क पर यातायात का खूब मखौल उड़ता दिखा।

छोटी-छोटी वजहों से जाम की स्थिति दिखी। बाइक पर तीन और चार सवारियां, पुलिस की औपचारिकता बयां करती नजर आईं। पुलिस वाले भी ज्यादा गंभीर नहीं दिखे और यातायात व्यवस्था से मुंह मोड़कर किनारे गपशप करते नजर आए। यही नहीं डग्गा मारी खत्म नहीं करा पा रहे प्रशासन को पब्लिक ट्रांसपोर्ट के वाहन पर छत पर बैठे यात्री भी नहीं दिखे। यातायात माह के अंतिम दिन की यह तश्वीर पुलिस के पूरे महीने की मेहनत को साफ बता रही है।

घंटाघर पर एक बाइक पर तीन लोग सवार मिले। इन्होंने हेलमेट भी नहीं लगा रखा था। पुलिस को भी नियमों का मखौल उड़ाते नहीं दिखे।

स्टेशन रोड पर टाउन हॉल के पास एक बाइक पर चार लोग सवार थे। इन्होंने हेलमेट भी नहीं लगा रखा था। पुलिस को भी ये नजर नहीं आए।

शहर में डग्गामारी वाहनों पर लगाम नहीं है। पुलिस की अनदेखी से ये इतने बेफिक्र हैं कि यातायात नियमों का खूब मखौल उड़ा रहे हैं। कोटरा अजनारी मार्ग पर मैजिक वाहन की छत पर बिना सुरक्षा के यात्रियों को बैठाकर ले जाया जा रहा था।

उरई राठ मार्ग पर मालगाड़ी की तरह बाइक से जाता एक सेलमैन मिला। इसकी बाइक पर इतना सामान था कि बाइक ही नजर नहीं आ रही थी। ऐसी स्थिति में दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।

माहिल तालाब के पास पुलिस गपशप में लीन थी और इस रोड पर कई वाहन चालकों को यातायात नियमों का उल्लंघन करते देखा गया।

सिंधी मार्केट में जाम की समस्या से लोगों को जूझना पड़ा। बाइक को निकलने में भी काफी असुविधा हो रही थी। सड़क पर वाहन खड़े होने से ये दिक्कतें हुईं। इस दौरान वहां मौजूद पुलिस गपशप में नजर आई।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *