उरई। जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की समीक्षा बैठक कलक्ट्रेट सभागार में हुई।

डीएम राजेश कुमार पांडेय ने हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर निर्माण कार्य तथा सीएचओ के कार्यों की समीक्षा में खराब प्रदर्शन करने वाले को चिन्हित कर कार्रवाई के निर्देश दिए।

आकांक्षी ब्लॉक के प्रभारी चिकित्साधिकारी यूनिसेफ द्वारा प्रस्तुत 10 महिलाओं की सूची प्राप्त कर क्रॉस वेरिफिकेशन संयुक्त रूप से कराया जाए। यदि एएनएम द्वारा काम नहीं किया गया है तो अगली बैठक में जांच कर अवगत कराया जाए। यूनिसेफ प्रतिनिधि को निर्देशित किया कि मॉनिटरिंग के बाद सीएमओ को उसी दिन फीडबैक दें।

पोर्टल पर बच्चों की शत प्रतिशत फीडिंग करना सुनिश्चित करें। जननी सुरक्षा योजना की समीक्षा के दौरान सीएचसी कदौरा व पीएचसी पिंडारी व महिला अस्पताल उरई के लंबित भुगतान होने पर संबंधित अधिकारियों को फटकार लगाते हुए निर्देशित किया कि लंबित भुगतान निस्तारण शीघ्र करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए।

गर्भवती महिला के पंजीकरण में ग्रामीण क्षेत्र में छिरिया, नदीगांव और पिंडारी तथा अर्बन क्षेत्र में उदनपुरा बघौरा तथा तुफैलपुरवा की प्रगति कम होने पर नाराजगी व्यक्त की। न्यूनतम रजिस्ट्रेशन वाली चिकित्सा इकाई को प्रगति में सुधार करने की हिदायत दी। मंत्रा डिलीवरी स्टेटस में छिरिया, रामपुरा और माधौगढ़ तथा जिला महिला चिकित्सालय की प्रगति कम होने पर सुधार करने के निर्देश दिए।

उन्होंने एचएमआईएस पोर्टल पर पंजीकृत महिलाओं के एएनसी रजिस्ट्रेशन में पिंडारी, कुठौंद और राजकीय मेडिकल कॉलेज की प्रगति खराब होने पर प्रगति में सुधार लाने के कड़े निर्देश दिए। उन्होंने महिला नसबंदी ग्रामीण क्षेत्र में बाबई, नदीगांव, माधौगढ़, राजकीय मेडिकल कॉलेज व जिला महिला अस्पताल में शून्य होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए महिला नसबंदी में प्रगति में सुधार करने के निर्देश दिए।

प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने स्वास्थ्य केंद्र पर संचालित योजनाओं में रुचि लेकर प्रगति लाएं। स्वास्थ्य केंद्र पर आने वाले मरीजों से मधुर व्यवहार रखें। उन्होंने कहा कि आशा, आंगनबाड़ी व एएनएम का सहयोग लेकर अधिक से अधिक संस्थागत प्रसव कराए जाएं। उन्होंने कहा कि प्रसूता को जननी सुरक्षा योजना का लाभ डिस्चार्ज पर ही उपलब्ध करा दिया जाए। इस दौरान सीडीओ भीमजी उपाध्याय, सीएमओ डॉ.एनडी शर्मा, सीएमएस मेडिकल प्रशांत निरंजन, सीएमएस डॉ. अविनेश कुमार, डॉ. सुनीता बनौधा, एसीएमओ डॉ.वीरेंद्र सिंह व डीटीओ डॉ. डीके भिटौरिया आदि अधिकारी मौजूद रहे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *