– गुस्साए परिजनों ने राजमार्ग पर लगाया जाम, प्रशासन ने बुलडोजर चलाकर आरोपी का घर तोड़ा, आरोपी फरार

अमर उजाला ब्यूरो

मुरैना। दिमनी थाना क्षेत्र में शुक्रवार रात कचनौधा गांव के सरपंच ने रथोल का पुरा गांव में एक ट्रैक्टर चालक की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना के बाद सभी आरोपी अपना-अपना घर खाली करके भाग गए। गुस्साए परिजनों ने मुरैना-अम्बाह स्टेट हाईवे पर जाम लगा दिया। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर परिजनों को समझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन वे माने नही। परिजनों की मांग थी कि आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी कर उनके घरों पर बुलडोजर चलाया जाए। अधिकारियों ने परिजनों की बात मानते हुए आज सुबह आरोपी सरपंच के घर और बुलडोजर चलाकर तोड़ दिया है। हालांकि इस घटना के सभी आरोपी अभी फरार है। आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस की आधा दर्जन टीमें लगी हुई है। घटना की बजह ट्रैक्टर पर तेज आवाज में डेक बजाना बताया गया है।

रथोल का पुरा गांव निवासी एदल सिंह गुर्जर पेशे से किसान था। वह ट्रैक्टर से खेती-वाड़ी के साथ माल ढोने का काम भी करता था। दो दिन पहले एदल गुर्जर का छोटा भाई अपने ट्रैक्टर में कुछ माल भरकर ल रहा था। वह अपने ट्रैक्टर पर तेज आवाज में डेक बजा रहा था। वह कचनौधा गांव के सरपंच श्यामू तोमर के दरवाजे से होकर गुजरा तो, सरपंच ने ट्रैक्टर रुकवाकर उससे डेक बंद करने के लिए कहा। यह बात ट्रैक्टर चालक को अच्छी नहीं लगी। इसी बात को लेकर विवाद होने लगा तो गांव के अन्य लोग वहां पर आ गए। गांव वालों ने बीच-बचाव करते हुए ट्रैक्टर वाले को वहां से चले जाने का इशारा कर दिया। इसके बाद दूसरे दिन फिर ट्रैक्टर चालक सरपंच के दरवाजे से तेज आवाज में डेक बजाते हुए निकला। सरपंच ने यह बात फोन पर एदल गुर्जर को बताई। एदल गुर्जर ने अपने भाई का पक्ष लेते हुए कहा कि, वह रोजाना इसी तरह से तेज आवाज में ट्रैक्टर पर डेक बजाते हुए तेरे दरवाजे से निकलेगा, तुझे जो करना है, कर लेना। यह बात सुनते ही सरपंच तैश में आ गया। वह रात करीब 8:45 बजे अपने साथ एक दर्जन लड़कों को लेकर रथोल का पुरा गांव में एदल गुर्जर के घर पहुंच गया। यहां पर सरपंच तथा उसके साथियों ने गाली-गलौज किया तो एदल के भाई ने कट्टे से फायर कर दिया। इसके बाद सरपंच श्यामू तोमर तथा उसके साथियों ने भी अवैध हथियारों से फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग के दौरान एक गोली एदल सिंह गुर्जर के सीने में लगी, जिससे वह मौके पर ही ढेर हो गया। एदल को गोली लगते ही सभी आरोपी मौके से भाग गए। परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को देने के साथ ही घायल एदल को वाहन में रखकर अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। गुस्साये मृतक के परिजनों ने रात को ही मूरिण9-अम्बाह स्टेट हाईवे पर जाम लगा दिया। जाम की खबर लगते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने परिजनों को समझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन वे नही माने। परिजन मौके पर कलेक्टर-एसपी को बुलाने की जिद कर रहे थे। हालात बिगड़ते देख जिला मुख्यालय से एसपी व जिला प्रशासन के अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए। परिजनों की मांग थी कि, आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार कर उनके घरों पर बुलडोजर चलाया जाए। एसपी ने आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस टीम भेजी तो उनके घरों पर ताले लटके मिले। पुलिस ने परिजनों की रिपोर्ट पर सरपंच श्यामू तोमर सहित 10 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। एएसपी अरविंद ठाकुर का कहना है कि घटना की असल वजह क्या है, यह अभी पता नहीं चल पाई। पड़ताल में पता चला है कि, आरोपी और मृतक पहले गहरे मित्र रहे है। आरोपी पक्ष के लोग शातिर बदमाश है। उनके बीच किस बात को लेकर बिगड़ी है, पता नहीं। एडीएम सीबी प्रसाद का कहना है कि आरोपी का मकान अतिक्रमण में बना हुआ था इसलिए मकान तोड़ा गया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *