MP Election 2023: Vijayvargiya's complaint regarding hiding the case in nomination papers, Congress will file

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय
– फोटो : SOCIAL MEDIA

विस्तार


मालवा निमाड में इंदौर की एक नंबर विधानसभा सीट सबसे चर्चित हो रही है। इस सीट पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और कांग्रेस उम्मीदवार संजय शुक्ला आमने सामने है। कांग्रेस उम्मीदवार शुक्ला ने नामांकन पत्र में पश्चिम बंगाल में बलात्कार के केस और छत्तीसगढ़ में दर्ज एक अन्य केस की जानकारी छुपाने के मामले में विजवर्गीय को घेरा है। इस मामले में कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग को शिकायत की, लेकिन आयोग ने आपत्ति खारिज कर दी है। अब कांग्रेस इस मामले को कोर्ट में ले जाने की तैयारी कर रही है।

कांग्रेस के प्रवक्ता चरण सिंह सापरा ने कहा कि विजयवर्गीय की अफसरों से मिली भगत है, इसलिए दो आपराधिक प्रकरणों की जानकारी न देने के बावजूद अफसरों ने नामांकन पत्र मंजूर कर लिया। अब इस मामले में हम हाईकोर्ट में याचिका लगाएंगे। सपरा ने कहा कि बंगाल के अलीपुर में एक महिला द्वारा दर्ज कराए गए प्रकरण के मामले को खुद विजयवर्गीय ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

इसके अलावा 1999 से उन पर छत्तीसगढ़ में केस चल रहा है। दोनो मामले उनकी जानकारी में है, इसके बावजूद उन्होंने नामांकन पत्र में दोनो प्रकरणों का उल्लेख नहीं किया। जब चुनाव आयोग ने सुरेंद्र पटवा, राहुल लोधी और अजय सिंह के नामांकन होल्ड पर किए है तो विजयवर्गीय के नामांकन को मंजूरी कैसे दे दी गई। यह दर्शाता है कि अफसर भाजपा के दबाव में काम कर रहे है।

फरार कैसे हो सकता हुं

विजयवर्गीय ने कहा कि 1990 से मैंने छह विधानसभा चुनाव और मेयर का चुनाव लड़ा है। मैं फरार कैसे हो सकता हुं। देशभर में हम जाते है। कई बार राजनीतिक प्रकरण दर्ज हो जाते है। कही कोई जानकारी रह गई होगी तो हम उसे ठीक कर लेंगे। विजयवर्गीय ने कहा कि कांग्रेस सीधे तौर पर चुनाव जीत नहीं सकती, इसलिए डर्टी पाॅलिटिक्स का सहारा ले रही है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *