सार

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की कथित अधिकारियों को चेतावनी पर पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने पलटवार करते हुए कहा कि यह सत्ता का अहंकार है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र को बचाना है तो उन्हें हटाना ही पड़ेगा। 

MP Election: Shah says: 'Don't leave an officer who doesn't take care of Kamal'

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार


मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले अधिकारी भी नेताओं के निशाने पर आ गए है। शनिवार को भोपाल और नर्मदापुरम संभाग की बैठक में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के अधिकारियों को धमकाने के बयान पर पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने पलटवार किया है। पूर्व सीएम ने सोशल मीडिया पर लिखा कि असल में यह सत्ता का अहंकार है कि शाह अफसरों को धमका रहे हैं और शिवराज सरकारी पैसों को बांटकर अपनी पीठ थपथपा रहे हैं। जनता के वोट से चुनी गई सरकार (यहां तो खरीदी गई) को चुनाव में जाने से पहले इस तेवर के लिए माफ नहीं करना चाहिए। लोकतंत्र बचाना है तो उन्हें हटाना ही पड़ेगा। कांग्रेस लाओ देश बचाओ। 

एमपी के तीन दिवसीय दौरे पर शाह 

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह चुनाव से पहले तीन दिवसीय दौरे पर शनिवार को एमपी आए। उन्होंने जबलपुर, छिंदवाड़ा के बाद शनिवार देररात भोपाल में नर्मदापुरम और भोपाल संभाग के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। यहां पर उन्होंने विधानसभावार फीडबैक के साथ ही चुनावी रणनीति पर चर्चा की। साथ ही टिकट वितरण के बाद डैमेज कंट्रोल पर भी चर्चा की। उन्होंने पदाधिकारियों से कहा कि नाराज कार्यकर्ताओं को मनाएं और 20 दिन चुनाव में जुट जाएं। शाह ने कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो मुझसे बात कराएं। उन्होंने चुनाव में कमल का ध्यान नहीं रखने वाले अधिकारियों को भी चेतावनी दी है। 

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *