सामाजिक संगठनों की बैठक में लिया गया निर्णय

संवाद न्यूज एजेंसी

तालबेहट। नगर में एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव न होने से लोगों में काफी आक्रोश है। इसे लेकर नगर के कई सामाजिक संगठनों की बैठक में इसके लिए जन आंदोलन पर रणनीति बनाई गई।

मंगलवार को सामाजिक संगठन युवा जागृति मंच एवं नगर उद्योग व्यापार मंडल सहित कई संगठनों की बैठक माताटीला तिराहे पर हुई। जिसमें प्रदेश की सीमा पर बसे ललितपुर के तालबेहट में ट्रेनों के ठहराव न होने पर चर्चा हुई। वक्ताओं ने कहा कि कोरोना के बाद तालबेहट में पहले रुकने वाली ट्रेनों तक को बंद करा दिया। जबकि यहां पर्यटन, उद्योग, व्यापार एवं शिक्षा के कारण आए दिन लोग बाहर आते-जाते हैं।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में लखनऊ झांसी इंटरसिटी को ललितपुर तक किया जाए। झांसी-इटारसी भोपाल पैसेंजर को दोबारा शुरू कराने और उत्कल कलिंगा एक्सप्रेस के पुन: ठहराव कराने की मांग की गई।

वक्ताओं ने ट्रेनों के ठहराव न होने पर आंदोलन पर विचार किया। बैठक में सुनील त्रिपाठी बाबा, राकेश चौरसिया, आशीष लखेरे, मनोज गुप्ता, संदीप अवस्थी, रंजीत साहू, गौरव व्यास, चिंटू शिवहरे, आशीष पंडा, दिनेश कुशवाहा, रविंद्र गुप्ता और रूपेश श्रीवास आदि मौजूद रहे।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *