MP Election Why did Ragini Nayak remember Ghalib couplet says Shivraj embarrassment in BJP

कांग्रेस की प्रवक्ता रागिनी नायक
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता रागिनी नायक को आज प्रेसवार्ता में मशहूर शायर गालिब का शेर याद आ गया। जी हां उन्होंने आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर तंज कसते हुए गालिब का शेर कुछ इस अंदाज में पढ़ा। उन्होंने कहा कि मुझे शिवराज के हाल पर चचा ग़ालिब का एक शेर याद आ रहा है। हजारों ख्वाहिशें ऐसी की हर ख्वाहिश पर दम निकले, मामा जी के अरमान पर फिर भी कम निकले। निकलना ख़ुद से आदम का सुनते आए हैं। लेकिन बहुत बे-आबरू होकर मामा जी कूचे से अब निकले।

नायक ने आज कांग्रेस कार्यालय में प्रेसवार्ता में पत्रकारों से चर्चा की। उन्होंने वार्ता में कहा कि प्रधानमंत्री ने भोपाल में हुए कार्यकर्ता सम्मेलन में मंच से एक बार भी सीएम शिवराज का नाम नहीं लिया। भाजपा में शिवराज की फ़जीहत हो गई है। शिवराज पर अपनी ही पार्टी विश्वास नहीं कर रही है। प्रदेश की जनता उन पर क्या ख़ाक विश्वास करेगी। तीन सूची निकलने के बाद भी अब तक उनका नाम नहीं आया है। शिवराज के नाम से उनके नेता बच क्यों रहे हैं। उनका नाम आगे क्यों नहीं ला रहे हैं। आखिर शिवराज को विदाई भाषण क्यों देना पड़ा। अफसरों की मीटिंग में भावुक हो रहे हैं। वे ये जान गए हैं कि अब अफसरों की मीटिंग लेने का मौका नहीं मिलेगा।

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉक्टर रागिनी नायक ने भाजपा सरकार पर भी कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि देश में सबसे ज्यादा बलात्कार मप्र में हो रहे हैं। उज्जैन में हुई घटना से भारत माता रोई है। उज्जैन की घटना ने पूरे देश को पीड़ा पहुंचाई है। गौरतलब है कि रागिनी नायक को एआईसीसी ने मप्र में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर एमपी कांग्रेस मीडिया विभाग का कॉर्डिनेटर बनाया है। प्रेसवार्ता में अमरीश रंजन पांडेय भी विशेष रूप से मौजूद थे।

कैलाश को है अभिमान

कैलाश विजयवर्गीय के हाथ जोड़ने वाले बयान पर रागिनी नायक ने कहा कि ये कैलाश विजयवर्गीय का अभिमान में बोल रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा पार्टी ने अपने चुनाव संयोजक नरेंद्र तोमर को ही चुनाव लड़ा दिया। सीधी में केदार शुक्ला के रीति पाठक को लेकर दिए गए बयान पर नायक ने कहा कि महिलाओं को लेकर भाजपा की सोच उजागर करने वाला बयान है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *