Many secrets revealed by statement of classmate student in student Daksh suicide case

मृतक छात्र दक्ष
– फोटो : फाइल फोटो

विस्तार

अलीगढ़ महानगर के महुआखेड़ा क्षेत्र के ग्रीन पार्क अपार्टमेंट में छात्र दक्ष की आत्महत्या के मामले में उसकी सहपाठी छात्रा मित्र के पुलिस बयान दर्ज करेगी। उसी बयानों में दोस्ती से आत्महत्या तक के छिपे राज उजागर होंगे। इसके लिए पुलिस की टीम दिल्ली जाने की तैयारी कर रही है। जहां के अस्पताल में छात्रा भरती है और उसका उपचार चल रहा है।

ग्रीन पार्क के कर अधिवक्ता अमित निर्मल के बेटे दक्ष ने घर में उस समय आत्महत्या की। जब वह अकेला था। तीस जून की रात जब वे लौटे तो बेटे का शव लटका मिला था। उससे कुछ घंटे पहले तक बेटे से उनकी बात हुई थी। शुरुआत में तो परिवार मौत का कारण समझ नहीं पाया। मगर तीन दिन बाद परिवार ने जानकारी जुटाकर मामले में सिविल लाइंस के गैर समुदाय की एक सहपाठी छात्रा मित्र के परिवार पर मुकदमा दर्ज कराया है। जिसमें आरोप है कि उसके परिवार के दबाव में आकर दक्ष ने आत्महत्या की है, क्योंकि छात्रा का परिवार व उनका एक पड़ोसी इस दोस्ती के खिलाफ था। 

पुलिस ने जब इस आरोप को लेकर दक्ष के मोबाइल का रिकार्ड खंगाला तो उसमें छात्रा के नंबर से तमाम कॉल व दोस्ती भरी चेट के अलावा उसकी मां के मोबाइल से 29 मई को कॉल होना पाया गया है। साथ में दूसरे देश के मोबाइल नंबर का भी रिकार्ड खंगाला जा रहा है। इन्हीं तथ्यों के आधार पर छात्रा के माता पिता व विदेशी मोबाइल नंबर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। 

इंस्पेक्टर महुआ खेड़ा विजय सिंह के अनुसार छात्रा के विषय में दिल्ली के अस्पताल में भरती होना बताया गया है। वह भी उसी दिन से जिस दिन से दक्ष ने आत्महत्या की है। अब पहला सवाल तो यह जानना है कि यह बीमार है या किसी अन्य वजह से भरती है। दूसरा दोनों की दोस्ती और आत्महत्या के मूल कारणों को लेकर भी छात्रा से बातचीत होनी है। इसके लिए टीम भेजी जा रही है। इसके लिए टीम उसके घर गई थी। जहां ताला लटका मिला है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताजा खबरें