MP News conspiracy to rob the gold loan bank in Bhopal was hatched in Kolkata jail

लुटेरे नकाब पहने हुए थे, आरोपी प्रशांत उर्फ राजा पंडित गिरफ्तार
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार

गोल्ड लोन बैंक लूट में भोपाल पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए उत्तर प्रदेश से लेकर बिहार तक पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं। आरोपी लूट केस में प्रयुक्त अपाचे विदिशा में छोड़ गए थे, जिसे लेने आया था और पुलिस ने धर दबोचा। लूट के चारो आरोपी बिहार के रहने वाले हैं, जिनमें दो इंजीनियरिंग के छात्र हैं।

बता दें कि लूट का मुख्य साजिशकर्ता भी बिहार का रहने वाला है और वर्तमान में कोलकाता जेल में बंद है। वह जेल में बंद होने के दौरान ही भोपाल में फेड गोल्ड बैंक को लूटने की पूरी साजिश रची थी। मास्टरमाइंड ने जेल में रहते ही आरोपियों को फर्जी आधार कार्ड, दो अपाचे बाइक, पांच कट्टे, 50 कारतूस और 35 हजार रुपये नकदी उपलब्ध कराए थे। आरोपियों को घटना स्थल से 50 किलोमीटर दूर रहकर रेकी करने और वारदात को अंजाम देने को कहा था, इसलिए आरोपियों ने फर्जी आधार कार्ड दिखाकर सीहोर में किराए से कमरा लिया था। पहले दो आरोपी आए, फिर दो और आरोपी उसी कमरे में रहने लगे। 15 मार्च को चारों आरोपी सीहोर पहुंचे थे और पांच अप्रैल को लूट करने पहुंचे थे। हालांकि, बैंक प्रबंधक द्वारा एलार्म बजा देने के कारण लूट को अंजाम नहीं दे पाए थे। 

बड़ा अपराधी है सनी सिंह…

कोलकाता जेल में बंद सनी सिंह ने लूटकांड की पूरी साजिश रची थी। वह कुछ साल पहले पढ़ाई करने भोपाल आया था, फिर अपराध की दुनिया में कदम रख दिया। सनी सिंह भी मूलत: बिहार का रहने वाला है, उसके खिलाफ कई अपराध दर्ज हैं।

बिहार के रहने वाले हैं चारों आरोपी…

एडीसीपी क्राइम शैलेंद्र सिंह चौहान और एडीसीपी जोन-2 राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि फरार तीन आरोपियों की तलाश में पांच राज्यों के 20 शहरों में तलाश की जा रही थी। पुलिस की आठ टीमें लगातार आगरा, कानपुर, लखनऊ, पटना में तलाश कर रही हैं। आरोपी लूट को अंजाम देने के बाद मोबाइल बंद कर लेते हैं। आरोपियों ने सीहोर के हरी बाजार में कमरा किराए से लिया था। 15 दिन पहले सीहोर पहुंचे थे। दो अपाचे बाइक में चारों बदमाश सीहोर से पुराने भोपाल होकर इंद्रपुरी पहुंचे थे। लूट का प्रयास करने के बाद चारो बिलखिरिया से बाइपास होकर विदिशा गए और वहां अपाचे फेंककर ट्रेन से झांसी निकल गए थे।

इन आरोपियों ने दिया था घटना को अंजाम…

पुलिस ने अभी राजा कुमार उर्फ राजा पंडित निवासी हाजीपुर वैशाली, बिहार को गिरफ्तार किया है। वह 12वीं पास है। घटना में इंजीनियरिंग का छात्र वैशाली, बिहार निवासी प्रेम राज पिता जय प्रकाश के साथ हाजीपुर निवासी शिवम और मुजफ्फरपुर निवासी शिवेश शामिल थे। शिवेश भी बीई का छात्र बताया जाता है।

बैंक की 20 दिन की थी रेकी…

पकड़ा गया आरोपी राजा कुमार उर्फ राजा पंडित लूट को अंजाम देने से पहले 20 दिन तक बैंक की रेकी की थी। वह ही सबसे पहले सोने की चेन लेकर फेड गोल्ड लोन बैंक के कार्यालय गया था, लोन लेने। उसने ही पूरे कार्यालय की रेकी की थी। राजा पंडित ही नितेश यादव नाम का फर्जी आधार कार्ड देकर सीहोर में 3200 रुपये में एक कमरा किराए पर लिया था।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *