class="post-template-default single single-post postid-641 single-format-standard wp-custom-logo wp-embed-responsive jps-theme-newsup ta-hide-date-author-in-list" >


Priests beat devotees in Omkareshwar temple, police pacify the matter, video of beating goes viral

पुजारियों ने भक्तों को पीटा
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार

मध्यप्रदेश के खंडवा जिले में आने वाले देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक ओम्कारेश्वर मंदिर में हुए हंगामे का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। दरअसल शनिवार को बड़ी संख्या में श्रद्धालु ओंकारेश्वर में भगवान शिव के दर्शन करने पहुंचे थे। इस दौरान भक्तों और मंदिर के पुजारियों के बीच भगवान के दर्शन करने को लेकर हंगामा हो गया। मंदिर परिसर में चल रहा हंगामा कुछ देर में ही मारपीट में भी बदल गया, जिसे परिसर में मौजूद पुलिस जवानों ने बीच बचाव कर शांत कराया। हालांकि इसी बीच किसी श्रद्धालु ने मारपीट की घटना का वीडियो बना लिया, जो कि अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। 

 

श्रद्धालुओं ने लगाया भेदभाव का आरोप

तीर्थ नगरी ओंकारेश्वर में शनिवार को कुछ भक्तों ने मंदिर परिसर में भगवान के दर्शन करने में भेदभाव को लेकर हंगामा कर दिया। मंदिर के गर्भगृह में मौजूद कुछ भक्त दर्शन करने को लेकर लाइन में लगे हुए थे। भक्तों ने आरोप लगाया कि मंदिर के पुजारी कुछ भक्तों को वीआईपी दर्शन करा रहे थे, जबकि वे लोग बहुत देर से लाइन में लगे हुए थे। भक्तों का आरोप है कि जब उन्होंने पुजारियों को ऐसा करने से रोका तो उन्होंने भक्तों के साथ ही मारपीट शुरू कर दी। हालांकि हंगामा होते देख मंदिर परिसर में मौजूद पुलिस के जवान तुरंत गर्भगृह पहुंचे और पुजारियों के साथ ही भक्तों को भी समझाइश देकर मामला शांत कराया। भक्तों का आरोप लगाया कि मंदिर ट्रस्ट भक्तों के साथ भेदभाव रखता है। यहां मौजूद पुजारी एक ही पर्ची को बार-बार भक्तों को देकर उन्हें जल्दी दर्शन करवा देते हैं जबकि दूर दराज से आए हुए भक्तों को लाइन में देर तक खड़े रहकर इंतजार करना पड़ता है। इसी बात का एक भक्त ने विरोध किया था, जिस पर मंदिर ट्रस्ट के लोगों ने उसे मंदिर में ही पीट दिया।

भक्तों के साथ हुई मारपीट का वीडियो अब सोशल मीडिया पर भी जमकर वायरल हो रहा है। पुनासा एसडीएम चंदर सिंह सोलंकी ने बताया कि शनिवार दोपहर कुछ भक्तों और मंदिर के पुजारियों के बीच झूमाझटकी हुई थी। शनिवार और रविवार होने के चलते छुट्टी के दिनों में मंदिर में भक्तों की भीड़ अधिक होती है, जिसके चलते गर्भगृह से जल्दी जल्दी दर्शन कराये जाते हैं। किन्तु कुछ भक्त आराम से दर्शन करना चाह रहे थे, जिसे लेकर ट्रस्ट के कर्मचारियों और पुजारियों ने मिलकर उन्हें समझाया था, पर वे हंगामा करने लगे जिसे पुलिस ने समझाइश देकर शांत कराया। उन्होंने बताया कि इस मामले में किसी भी पक्ष ने  एफआईआर दर्ज नहीं कराई है, और हम मंदिर की व्यवस्थाओं को भी ट्रस्ट की बैठक लेकर सुधारने का प्रयास लगातार कर रहे हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताजा खबरें