मध्यप्रदेश मुरैना

कल मुरैना में MP, UP और राजस्थान के 15 जिलो के अधिकारियो की बॉर्डर मीटिंग

मुरैना। मध्यप्रदेश में होने वाले चुनावों में बाहरी प्रदेशों के लोग गड़बड़ी न कर सकें, इसके लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी गई है। चंबल संभाग के अधिकारियों की मेजबानी में बुधवार 26 सितंबर को एक बॉर्डर मीटिंग का आयोजन कमिश्नर कार्यालय में किया जा रहा है। इस बैठक में तीनों प्रदेशों के सीमावर्ती और सीमावर्ती जिलों से सटे दूसरे जिलों को मिलाकर लगभग 15 जिलों के अधिकारी उपस्थित रहेंगे। इस बैठक में चुनाव शांतिपूर्ण कराने के लिए आवश्यक सभी बातों पर निर्णय लिए जाएंगे और चुनाव होने तक उन्हें अमल में लाया जाएगा। मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों में हर साल सबसे ज्यादा मशक्कत यूपी और राजस्थान की सीमाओं से आने वाले असामाजिक तत्वों और उनकी गतिविधियों को रोकने के लिए करनी होती है। करीब दो दशक पहले तक चुनाव के दौरान तीनों ही राज्यों की सीमा में सक्रिय डकैत और बदमाश गिरोह चुनावों को प्रभावित करने का काम करते थे। इन गिरोहों की बंदूकों और धमकियों से मतदाताओं के वोटों का रुख तक बदल जाया करता था। इन विपरीत हालातों में तीनों ही राज्य मिलकर चुनाव वाले राज्य में इस तरह के बदमाशों और डकैतों की सक्रियता को रोकने के कारगर उपाय किया करते थे। तब से अब तक हर बार चुनाव के दौरान इसी तरह तीनों राज्य मिलकर एक दूसरे के यहां होने वाले चुनावों को सफल बनाते हैं। इसलिए की जा रही बैठक चंबल में अब डकैत नहीं हैं। फिर भी चुनाव के समय अक्सर बाहर से हथियार और दूसरी प्रतिबंधित सामग्री जैसे शराब आदि की तस्करी का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में इस बैठक में इन प्रदेशों के जिला अधिकारी और संभागीय अधिकारी उन सभी आवश्यक उपायों पर चर्चा करेंगे, जिन्हें अमल में लाकर इस तरह की गतिविधियों को रोका जा सकता है। बीते हर चुनाव में तीनों राज्यों का यह टीम वर्क कारगर साबित हुआ है। इस बार भी प्रशासन को यही उम्मीद है। आयुक्त चंबल करेंगे अध्यक्षता इस बार्डर मीटिंग की अध्यक्षता चंबल कमिश्नर एमके अग्रवाल करेंगे। इसके अलावा आईजी संतोष कुमार, मुरैना कलेक्टर भरत यादव, एसपी मुरैना अमित सांघी सहित भिंड और श्योपुर के प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी मेजबान के तौर पर मौजूद रहेंगे। इसके अलावा दूसरे जिलों और राज्यों से आने वाले अधिकारी अपनी-अपनी प्लानिंग साझा करेंगे, ताकि मध्यप्रदेश के चुनाव सफलता से संपन्न् हो जाएं। इनका कहना है- कल बार्डर मीटिंग का आयोजन कमिश्नर कार्यालय में है। तीनों प्रदेशाें के 15 के करीब जिलों से पुलिस और प्रशासन के अधिकारी आएंगे। चुनाव के मद्देनजर बार्डर पर जो इंतजाम होने हैं उन पर चर्चा की जाएगी। भरत यादव, कलेक्टर मुरैना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *