देश विदेश

पिता ने अभिनंदन की बहादुरी पर जताया गर्व, जनता से कहा शुक्रिया

मुंबई। पाकिस्तान में बंदी भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्तमान के पिता एयर मार्शल (सेवानिवृत्त) एस. वर्तमान चालीस तरह के विमान उड़ा चुके हैं। उन्होंने अपने बेटे की बहादुरी पर गर्व जताते हुए उनके समर्थन और शुभकामनाओं के लिए जनता को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि वीडियो में उनका बेटा अभि दुश्मन की कैद में होने के बावजूद एक सच्चे सैनिक की तरह बोलता नजर आया है। उन्होंने कहा कि वह लगातार प्रार्थना कर रहे थे कि पड़ोसी देश में उनके बेटे को यातनाएं न मिलें और वह सकुशल और सुरक्षित तरीके से घर लौट आए। शुक्रवार को रिहाई की खबर से अभिनंदन के परिवार में खुशी की लहर दौड़ गई है। उनका परिवार तीन पीढ़ियों से भारतीय वायुसेना में सेवारत रहा। द्वितीय विश्व युद्ध के जमाने में उनके दादा सिम्हाकुट्टी भी वायुसेना में थे। अभिनंदन के पिता एस.वर्तमान वायुसेना की पूर्वी कमान के एयर मार्शल रहे हैं। उन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया जा चुका है। 2011 में रक्षा विभाग की रिलीज के अनुसार वह उन चुनिंदा पायलटों में से हैं जिन्होंने 40 तरह के विमानों को उड़ाया है। साथ उन्हें चार हजार घंटे से ज्यादा की उड़ान का अनुभव है। वे बेंगलुरु स्थित वायुसेना के एलीट एयरक्राफ्ट सिस्टम एवं टेस्टिंग इस्टेबलिशमेंट के चीफ टेस्ट पायलट रहे हैं। कारगिल युद्ध के दौरान एयर मार्शल एस. वर्तमान ग्वालियर स्थित वायुसेना अड्डे के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर थे। 13 दिसंबर, 2001 को संसद पर हुए आतंकी हमले के समय वायुसेना के ऑपरेशन पराक्रम के दौरान वेस्टर्न सेक्टर के ऑपरेशनल एयरबेस की कमांड उनके हाथ में थी। उन्होंने अपने उड़ान के अनुभव से मिराज 2000 के अपग्रेडेशन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। यह संयोग ही है कि पाकिस्तान के बालाकोट में मिराज 2000 से हमला किया गया। बेटे की कहानी जैसी तमिल फिल्म के सलाहकार भी हैं रहे विंग कमांडर अभिनंदन के पिता पूर्व एयर मार्शल एस. वर्तमान ने कभी नहीं सोचा होगा कि जिन हालात के बारे में कुछ साल पहले वह फिल्मी पर्दे पर रूबरू हो चुके हैं, उनका बेटा असल जिंदगी वैसी ही भयावह परिस्थिति का सामना करेगा। दक्षिण भारतीय फिल्मों के दिग्गज निर्देशक मणिरत्नम की 2017 में रिलीज हुई फिल्म ‘कातरु वेलियिदाई’ में भारतीय वायुसैनिक की ही कहानी है। खास बात ये है कि अभिनंदन के पिता ने इस फिल्म के लिए मणिरत्नम के सलाहकार की भूमिका निभाई थी। इस फिल्म के मुख्य किरदार दक्षिण भारतीय अभिनेता कार्ती और हिरोइन अदिति राव हैदरी थे। फिल्म की कहानी के अनुसार वायुसेना के पायलट वरुण चक्रपाणी 1999 कारगिल युद्ध के दौरान दुश्मन देश पाकिस्तान की सीमा में पैराशूट से पहुंच जाते हैं। उनका फाइटर जेट तबाह हो जाता है और उन्हें रावलपिंडी में पाकिस्तानी सेना पकड़ लेती है। युद्धबंदी के रूप में उन्हें प्रताड़ित किया जाता है। एयरशो विमान हादसे के शिकार साहिल के दोस्त हैं अभिनंदन भारतीय वायुसेना के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन हाल ही में बेंगलुरु एयरशो के दौरान हुए हादसे में जान गंवाने वाले हिसार निवासी विंग कमांडर साहिल के दोस्त हैं। अपने दोस्त साहिल को अंतिम विदाई देने अभिनंदन 21 फरवरी को हिसार गए थे। बताते हैं कि विंग कमांडर अभिनंदन और साहिल गांधी में गहरी दोस्ती थी। जिस हेलीकॉप्टर से साहिल के पार्थिव शरीर को हिसार एयरपोर्ट तक लाया गया था, उसी हेलीकॉप्टर में अभिनंदन भी थे। वे बेंगलुरु से दोस्त साहिल के पार्थिव शरीर के साथ हिसार तक आए थे और अंतिम संस्कार के बाद टीम के साथ लौट आए थे। साहिल के ससुर ओपी झांब ने बताया कि अभिनंदन भी साहिल के अंतिम संस्कार में आए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *