भिंंन्ड मध्यप्रदेश

उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश को जोड़ने बाला चंबल पुल हुआ क्षतिग्रस्त, आवागमन प्रतिबंधित

भिंड। ग्वालियर-इटावा नेशनल हाइवे 92 पर चंबल नदी का पुल छठे पिलर की बेयरिंग टूटने से वाहनों के लिए बंद किया गया है। उत्तरप्रदेश ब्रिज कॉरपोरेशन इटावा के पीएम देवेंद्र सिंह का कहना है एक्सपर्ट इंजीनियरों की टीम 2 दिन बाद सोमवार को पुल का मुआयना करेगी। एक्सपर्ट इंजीनियरों की टीम टूटी बेयरिंग को पिलर से निकालेंगे इसके बाद तय होगा कितने दिन में नई बेयरिंग बनेगी और मेंटेनेंस में कितने दिन लगेंगे। शुक्रवार को प्रतिबंध के बावजूद सुबह लंबी-लंबी कतार में भारी वाहन निकले। इसके बाद पुल पर पहले भिंड की ओर फिर इटावा की ओर ईंटों की दीवार बनवाई गई है। प्रतिबंध होने के बावजूद पुल पर भारी वाहनों को रोकने के लिए पुलिस बल नहीं लगाया गया था। 2 दिन से टूटी थी बेयरिंग, धसके स्लैब से निकले वाहन वर्ष 1976 में बने 42 साल पुराने चंबल नदी के पुल पर इटावा की ओर से छठे पिलर की बेयरिंग करीब 2 दिन पहले टूट गई थी। इससे पुल की सड़क का स्लैब करीब 5 इंच नीचे धसक गया था। गुरुवार को नेशनल हाइवे पीडब्ल्यूडी इटावा के ईई एमसी शर्मा ने अपने दल के साथ पुल का निरीक्षण किया। पिलर की टूटी बेयरिंग और धसके हुए स्लैब को देखकर उन्होंने शुक्रवार से पुल से सभी वाहनों के निकलने पर प्रतिबंध लगा दिया था। प्रतिबंध के बावजूद शुक्रवार सुबह 9 बजे तक पुल से भारी वाहनों दोनों ओर से कतार लगाकर निकले। वाहन निकलने की सूचना पर पहले भिंड की ओर दीवार बनवाना शुरू किया गया फिर इटावा की ओर पुल पर दीवार बनाई गई। दीवार बनाने के दौरान भी पुल से बसें, ट्रक, डंपर और कार निकलती रहीं। शाम को वाहन निकलना बंद हो पाए। हालांकि दिन में पुल के धसके स्लैब से भी भारी वाहन निकलते रहे, जिससे खतरे की आशंका रही।

फूफ और उदी से वाहनों को किया डायवर्ट

चंबल पुल पर प्रतिबंध होने से भिंड की सीमा में फूफ से, इटावा की सीमा में उदी चौराहा से वाहनों को वैकल्पिक मार्ग पर डायवर्ट किया गया। भिंड से इटावा, कानपुर जाने वाले वाहन फूफ से भदाकुर रोड होकर चकरनगर से उदी चौराहा निकाले गए। ग्वालियर से इटावा, कानपुर जाने वाले वाहन मुरैना की ओर डायवर्ट कर आगरा निकाले जाएंगे। इस दौरान जो वाहन फूफ के भदाकुर रोड तिराहा से बरही गांव के बीच रुके थे, वे पुल से निकलते रहे। इसी तरह उदी से चंबल पुल के बीच फंसे वाहन निकलते रहे। वाहन डायवर्ट के दौरान फूफ और उदी में जाम के हालात रहे।

इनका ये कहना हैचंबल पुल के छठे पिलर की बेयरिंग टूटने से स्लैब नीचे धसकी है। पुल और यहां से गुजरने वाले लोगों को किसी तरह का खतरा न हो इसके लिए वाहनों के निकलने पर प्रतिबंध लगाया है। पुल पर वाहनों को रोकने के लिए दीवार बनवा दी है। एमसी शर्मा, ईई, नेशनल हाइवे पीडब्ल्यूडी इटावा उत्तरप्रदेश पुल की बेयरिंग पुराने डिजाइन की है। इसको बनवाने के लिए बात हुई है। सोमवार को एक्सपर्ट इंजीनियरों की टीम पुल का मुआयना करने आएगी। इसके बाद बेयरिंग को निकलवाकर बनवाने के लिए भेजा जाएगा। मेंटेनेंस में अभी समय लगेगा। देवेंद्र सिंह, पीएम, ब्रिज कॉरपोरेशन इटावा उत्तरप्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *